राज्य सभा अध्यक्ष वेंकैया नायडू के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रहा विपक्ष

नई दिल्ली। मानसून सत्र के दौरान कृषि कानूनों और पेगासस सहित कई मुद्दों पर लोकसभा और राज्य सभा की कार्यवाही में पैदा हुए व्यवधान के बीच विपक्ष राज्य सभा के अध्यक्ष वेंकैया नायडू के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ला सकता है।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, विपक्ष का दावा है कि उसके सदस्यों ने राज्य सभा में कई मुद्दों पर चर्चा और सरकार की तरफ से सदन में बयान दिए जाने के लिए नोटिस दिया है लेकिन राज्य सभा अध्यक्ष की तरफ से इस पर ध्यान नहीं दिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि सोमवार से संसद की कार्यवाही पुनः शुरू होने के साथ ही डीएमके, तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस की तरफ से राज्य सभा अध्यक्ष एम वेंकैया नायडू के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जा सकता है।

सूत्रों ने कहा कि राज्य सभा के अध्यक्ष वैकैया नायडू के खिलाफ लाये जाने वाले अविश्वास प्रस्ताव को शिव सेना सहित कुछ अन्य दल भी सपना समर्थन दे सकते हैं।

विपक्ष का दावा है कि सरकार मानसून सत्र की सिर्फ औपचारिकताएं पूरी कर इसे जल्द समाप्त करने की कोशिश में हैं। पेगासस जासूसी और कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष संसद के दोनो सदनों में सरकार को पूरी ताकत के साथ घेर रहा है। विपक्ष के विरोध के बीच मानसून सत्र की कार्यवाही में लगातार गतिरोध बना रहा है।

ये भी पढ़ें:  Russian School : स्कूल में छह लोगों को मारने के बाद अज्ञात ने खुद को मारी गोली

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल ही में अपने ट्वीट में कहा था कि ‘हमारे लोकतंत्र की बुनियाद है कि सांसद जनता की आवाज़ बनकर राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर चर्चा करें। मोदी सरकार विपक्ष को ये काम नहीं करने दे रही। संसद का और समय व्यर्थ मत करो- करने दो महंगाई, किसान और #Pegasus की बात!’

वहीँ तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने केंद्र सरकार पर संसद नहीं चलने देने के आरोप लगाए हैं। इसी क्रम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के एक और सांसद शांतनु सेन को सस्पेंड कर दिया गया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें