सोशल

Assam : अपने ‘मृत्यु प्रमाण पत्र’ खोने का व्यक्ति ने विज्ञापन किया जारी
बड़ी खबर, सोशल

Assam : अपने ‘मृत्यु प्रमाण पत्र’ खोने का व्यक्ति ने विज्ञापन किया जारी

एक यूजर ने पोस्ट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि अगर यह पाया गया तो सर्टिफिकेट को स्वर्ग या नर्क में कहां पहुंचाना है? एक अन्य ट्विटर यूजर ने कहा, "किसी का अपना मृत्यु प्रमाण पत्र खो गया है. यदि किसी को मिल गया है, तो कृपया उसे उसका मृत्यु प्रमाण पत्र लौटा दे Assam: अखबार में आपने विज्ञापन तो बहुत देखे होंगे. कई विज्ञापन खाने पीने के ब्रांड के होते है तो कई कपड़ों के. कई विज्ञापन शादी के भी होती है तो कई गुमशुदगी के. लेकिन असम के एक व्यक्ति ने अजीबोंगरीब विज्ञापन दिया है. आप मानें या न मानें, असम में एक शख्स ने अखबार में विज्ञापन जारी कर कहा कि उसका मृत्यु प्रमाण पत्र खो गया है! अब जीवित आदमी का मृत्यु प्रमाण पत्र कैसे खो सकता है यह तो समझ से परे है. 'यह केवल भारत में होता है', आईपीएस अधिकारी का ट्वीट एक आईपीएस अधिकारी रूपिन शर्मा ने ट्विटर पर विज्ञापन की तस्वीर साझा करते हुए...
ट्विटर ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के एकाउंट से ब्लू टिक हटाया
बड़ी खबर, लाइफ स्टाइल, सोशल

ट्विटर ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के एकाउंट से ब्लू टिक हटाया

नई दिल्ली। ट्विटर ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत के ट्विटर एकाउंट से ब्लू टिक हटाकर उसे अन वेरिफाइड की केटेगरी में कर दिया है। इतना ही नहीं ट्विटर ने आज बड़ा एक्शन लेते हुए उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के ट्विटर एकाउंट से भी ब्लू टिक हटा दिया था लेकिन कुछ देर बाद उपराष्ट्रपति के एकाउंट पर ब्लू टिक वापस लगा दिया गया। संघ प्रमुख मोहन भागवत के ट्विटर एकाउंट को लेकर कहा जा रहा है कि भागवत का ट्विटर एकाउंट क्रिएट होने के बाद से उनके एकाउंट से एक भी ट्वीट नहीं किया गया है। इसलिए ट्विटर ने इस एकाउंट को उपयोग में नहीं मानकर (इनेक्टिव)ब्लू टिक हटाने की कार्रवाही की है। वहीं वेंकैया नायडू के ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक हटाने के बाद ट्विटर की ओर से यही सफाई दी गई थी कि वेंकैया नायडू के ट्विटर हैंडल को पिछले छह महीने में लॉग इन नहीं किया गया था। ट्विटर के नियमो के मुताबिक वेरिफ...
कैसिनो क्या है, कैसिनो खेलने से पहले जान लें ये बात
बड़ी खबर, लाइफ स्टाइल, सोशल

कैसिनो क्या है, कैसिनो खेलने से पहले जान लें ये बात

नई दिल्ली(फीचर डेस्क)। दुनियाभर में गैंबलिंग (जुआ) के बहुत से तरीके प्रचलित है। इनमें ताश के पत्तो (Playing cards game), से लेकर घुड़दौड़ (Horse racing), कैसिनो, कारो की दौड़ (Car racing) तथा अन्य कई तरह के खेल प्रचलित हैं। सभी तरह के खेलो में पैसे का चलन होता है। अमेरिका, यूरोप के देशो में इस तरह के खेल सामान्य बात है जबकि भारत में इस तरह के कुछ खेलो पर पैसा लगाना क़ानूनी तौर पर अवैध है। यूरोप में, लगभग हर देश ने कैसीनो (Casino) को अनुमति देने के लिए 20 वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में अपने क़ानूनों को बदल दिया। कैसिनो (Casino) को फ्रांस में सरकार द्वारा भी विनियमित किया जाता है, जिसने 1933 में उन्हें वैध कर दिया। समय के साथ साथ जैसे जैसे तकनीक आगे बढ़ रही है वैसे वैसे इस तरह के खेल में शामिल होने वाले लोगों की तादाद भी बढ़ रही है। मोबाईल पर इंटरनेट की मौजूदगी के बाद अब इस तरह के खेलो में भाग ले...
क्या है व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी, जिसके कारण लोग तेजी से छोड़ रहे व्हाट्सएप
बड़ी खबर, सोशल

क्या है व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी, जिसके कारण लोग तेजी से छोड़ रहे व्हाट्सएप

नई दिल्ली। अभी हाल ही में मेसेजिंग एप व्हाट्सएप ने अपनी नई गोपनीयता पॉलिसी (प्राइवेसी पॉलिसी) का एलान किया। व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी अमल में आने के बाद बड़ी संख्या में यूजर्स ने रातो रात व्हाट्सएप छोड़ दिया। इतना ही नहीं कई देशो में रक्षा और ख़ुफ़िया तंत्र से जुड़े अधिकारीयों को तुरंत व्हाट्सएप छोड़ने के निर्देश जारी किये गए हैं। व्हाट्सएप को अब तक एक सुरक्षित मेसेजिंग एप माना जाता था। इस एप पर किसी तरह के विज्ञापन भी नहीं थे। इसके अलावा निजिता और गोपनीयता के लिहाज से यह एप अन्य मोबाईल एप्स की तुलना में अधिक लोकप्रिय था और इस पर यूजर्स की संख्या अन्य मोबाईल एप्स की तुलना में काफी ज़्यादा थी। पिछले एक सप्ताह के अंदर बड़ी तादाद में यूजर्स द्वारा व्हाट्सएप छोड़े जाने के पीछे व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को कारण बताया जा रहा है। आखिर व्हाट्सएप की नई प्राईवेसी पॉलिसी में ऐसा क्या है जो रात...
कोरोना वैक्सीन के नाम पर ठगी की कोशिशें, आप रहिये सावधान
बड़ी खबर, सोशल

कोरोना वैक्सीन के नाम पर ठगी की कोशिशें, आप रहिये सावधान

नई दिल्ली। ठगी करने वालो को इंतजार रहता है कि वे किस तरह आपदा को अवसर में बदल लें। लॉकडाउन के दौरान लोन देने के नाम पर हज़ारो लोगों से ठगी करने के बाद अब ठगो से लोगों से पैसा ऐंठने के लिए नया रास्ता ढूंढ़ निकाला है। नए तरीके से ठगी करने के लिए अब लोगों को कोरोना वैक्सीन का हवाला दिया जा रहा है। कई लोगों को अब तक इस तरह के एसएमएस और फोन आ चुके हैं। जिनमे उनसे कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए उनकी निजी जानकारी मांगी गई है। इतना ही नहीं लोगों को फोन करके कहा जा रहा है कि कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन कराएं। इसके बाद उनसे उनका आधार नंबर, पैन नंबर और बैंक खाते की जानकारी मांगी जा रही है। धोखाधड़ी के इस नए तरीके से लोगों को आगाह करने के लिए दिल्ली पुलिस के डीसीपी(साऊथ-वेस्ट) ने ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि साइवर अपराध के इस नए तरीके से सावधान रहें। ट्वीट में कहा गया है कि...
बीजेपी ने अपने पोस्टर पर जिस किसान की तस्वीर लगाई, वह करेगा बीजेपी पर केस
बड़ी खबर, सोशल

बीजेपी ने अपने पोस्टर पर जिस किसान की तस्वीर लगाई, वह करेगा बीजेपी पर केस

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी ने पंजाब में जिस किसान को खुशहाल किसान बताते हुए उसकी तस्वीर अपने पोस्टरों और हैंडबिलो में इस्तेमाल की है, वह किसान खुद भी कृषि कानूनों के विरोध में सिंघु बॉर्डर पर धरने में शामिल है। हरप्रीत सिंह नामक इस किसान का कहना है कि बीजेपी ने उसकी मर्ज़ी जाने बिना ही उसकी फोटो को इस्तेमाल किया है, वह कृषि कानूनों का विरोध कर रहा है और किसान आंदोलन में शामिल है। वह भारतीय जनता पार्टी पर मुकदमा करेगा। बीजेपी द्वारा इस्तेमाल की गई किसान हरप्रीत सिंह की तस्वीर को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर बीजेपी की खिल्ली उड़ रही है। सोशल मीडिया पर यूजर्स बीजेपी को जमकर कोस रहे हैं। वहीँ किसान हरप्रीत सिंह का कहना है कि पंजाब बीजेपी ने उनकी 6-7 साल पुरानी तस्वीर का इस्तेमाल अपने पोस्टर में किया है और वह इसके लिए बीजेपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएगा। दरअसल कृषि का...
फेसबुक इंडिया की पॉलिसी हैड अंखी दास का इस्तीफा
बड़ी खबर, सोशल

फेसबुक इंडिया की पॉलिसी हैड अंखी दास का इस्तीफा

नई दिल्ली। फेसबुक इंडिया की पॉलिसी हैड अंखी दास को आखिर अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा। अंखी दास पर हेट कंटेंट के खिलाफ कार्रवाही न करने और एक विशेष राजनीतिक दल का पक्ष लेने के गंभीर आरोप लगे थे। अंखी दास को डाटा सुरक्षा विधेयक 2019 को लेकर संसद की संयुक्त समिति के सामने पेश होना पड़ा था। इतना ही नहीं अंखी दास के पॉलिसी हैड रहते सोशल मीडिया साइट के कथित दुरुपयोग को लेकर विपक्ष ने कड़े आरोप लगाए थे। बीते माह फेसबुक इंडिया के प्रमुख अजित मोहन भी सूचना और प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति के सामने पेश हुए थे। कांग्रेस नेता शशि थरूर इसके अध्यक्ष हैं। गौरतलब है कि अमेरिकी अख़बार वॉलस्ट्रीट जनरल और टाइम मैगज़ीन ने फेसबुक इंडिया को लेकर बड़े खुलासे किये थे। वॉल स्ट्रीट जनरल ने 2019 के लोकसभा चुनाव में भी फेसबुक इंडिया की पॉलिसी हैड अंखी दास की भूमिका को लेकर भी सवाल उठाये थे। पहली रिपोर्ट में वॉल...
फेसबुक ने आग उगलने वाले बीजेपी विधायक टी राजा का एकाउंट किया  ब्लॉक
बड़ी खबर, सोशल

फेसबुक ने आग उगलने वाले बीजेपी विधायक टी राजा का एकाउंट किया ब्लॉक

नई दिल्ली। नफरत और हिंसा को बढ़ावा देने वाले कंटेन्टों को लेकर फेसबुक ने बीजेपी नेता टीराजा सिंह के फेसबुक और इंस्टाग्राम एकाउंट पर पाबंदी लगा दी है। टी राजा सिंह के एकाउंट पर यह पाबंदी फेसबुक की नीतियों का उलंघन करने के आरोप में लगाई है। टी राजा सिंह के फेसबुक एकाउंट पर उस समय विवाद शुरू हुआ जब वॉलस्ट्रीट जनरल ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि फेसबुक बीजेपी नेता टी राजा सिंह के नफरत भरे पोस्ट को नहीं हटा रही है। रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया कि फेसबुक बीजेपी की विचारधारा का समर्थन कर रही है। यह रिपोर्ट प्रकाशित होने के बाद विपक्ष ने कड़ा एतराज जताते हुए बीजेपी और केंद्र सरकार पर हमला बोला। इस मामले में संसद की सूचना प्रौद्योगिकी समिति ने भी फेसबुक को तलब किया। बुधवार को फेसबुक इंडिया के हैड संसदीय समिति के समक्ष पेश हुए थे। वहीँ कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस ने फेसबुक को पत्र लिखे और पूछा कि फेस...
बीजेपी के लिए खतरा: बदल रही सोच, बढ़ रही पीएम मोदी के विरोधियों की तादाद
बड़ी खबर, सोशल

बीजेपी के लिए खतरा: बदल रही सोच, बढ़ रही पीएम मोदी के विरोधियों की तादाद

नई दिल्ली। क्या महज 6 साल के शासन में ही बीजेपी और पीएम मोदी का जादू ढलना शुरू हो गया है ? यह एक ऐसा सवाल है जिस पर शायद अब बीजेपी को भी चिंतन मनन करने की ज़रूरत पड़ेगी। पिछले कुछ दिनों में देखने में आया है कि मोदी सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़े अधिकांश पोल मोदी सरकार और बीजेपी के खिलाफ गए हैं। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के का एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर कई मीडिया चैनलों और अखबारों द्वारा कराये गए ऑनलाइन पोल में मोदी विरोध साफ़ नज़र आया। यहाँ तक कि दैनिक जागरण, रिपब्लिक टीवी और एबीपी न्यूज़ के पोल में भी सरकार के पक्ष में कम और विरोध में ज़्यादा वोट पड़े और लगभग सभी पोल सरकार के खिलाफ गए। अब ताजा मामले में लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के सैनिको से हिंसक झड़पों में 20 भारतीय सैनिको के शहीद होने के बाद देश में मोदी सरकार की विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर शुरू हुई बहस के बी...
स्मृति ईरानी को क्यों ढूढ़ रहे लोग, ट्विटर पर ट्रेंड ‘#स्मृति_ईरानी_आप_कहाँ_हो’
बड़ी खबर, सोशल

स्मृति ईरानी को क्यों ढूढ़ रहे लोग, ट्विटर पर ट्रेंड ‘#स्मृति_ईरानी_आप_कहाँ_हो’

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को लोग सोशल मीडिया पर ढूंढ़ रहे हैं। ट्विटर पर अचानक ही ट्रेंड में आये #स्मृति_ईरानी_आप_कहाँ_हो के पीछे अहम कारण लद्दाख सीमा पर चीनी सैनिको से हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिको की शहादत है। यूपीए शासन के दौरान सीमा पर पाक सैनिको संघर्ष होने पर सभी बीजेपी नेता आक्रामक हो जाते थे। वे सड़क से संसद तक सरकार पर हमले बोलते थे। सरहद पर तनाव को लेकर कई बार बीजेपी नेताओं ने तत्कालीन पीएम डा मनमोहन सिंह को कमज़ोर प्रधानमंत्री तक कह दिया। खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात का मुख्यमंत्री रहते तत्कालीन पीएम डा मनमोहन सिंह को लेकर कई टिप्पणी कई बार गंभीर टिप्पणी की थी। इतना ही नहीं वर्ष 2013 में स्मृति ईरानी ने डा मनमोहन सिंह को चूड़ियां भेंट करने का इरादा भी जताया था। मुंबई में 26/11 के हमले को लेकर स्मृति ईरानी ने डा मनमोहन सिंह को लेकर एक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में ...