पड़ताल

बिहार के बाहुबली पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की मौत की खबर झूठी
पड़ताल, बड़ी खबर

बिहार के बाहुबली पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की मौत की खबर झूठी

नई दिल्ली। बिहार के बाहुबली पूर्व सांसद शहाबुद्दीन का आज सुबह कोरोना से निधन को लेकर आज सुबह आई खबर झूठी साबित हुई है। तिहाड़ जेल प्रशासन ने मोहम्मद शहाबुद्दीन की कोरोना संक्रमण से मौत की खबरों को अफवाह करार दिया है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई द्वारा फ्लैश की गई खबर में कहा गया कि सिवान के बाहुबली माने जाने वाले शहाबुद्दीन कोरोना संक्रमित थे और उनका दिल्ली के एक अस्पताल में शुक्रवार तड़के निधन हो गया। इस खबर के आने के बाद यह खबर तेजी से इंटरनेट और चैनलों की सुर्खियां बन गई। इस बीच तिहाड़ जेल प्रशासन ने इस खबर की सत्यता का खंडन किया है। जेल प्रशासन की ओर से कहा गया है कि पूर्व सांसद दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती हैं। मरीज की हालत गंभीर है और इलाज जारी है। इस बीच समाचार एजेंसी ने मोहम्मद शहाबुद्दीन की मौत की खबर ट्वीट करने पर माफी मांगी है। https://twitter.com/ANI/status/1388348627186118657...
शादीघर में घुसकर बदसलूकी करने वाला जिलाधिकारी सस्पेंड
पड़ताल, बड़ी खबर

शादीघर में घुसकर बदसलूकी करने वाला जिलाधिकारी सस्पेंड

नई दिल्ली। कोरोना नियमो और नाइट कर्फ्यू का हवाला देते हुए शादीघर में घुसकर लोगों से बदसलूकी करने वाले जिलाधिकारी शैलेश यादव को निलंबित कर दिया गया है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में साफ़ तौर पर दिख रहा है कि कुछ पुलिस कर्मियों के साथ जिलाधिकारी शादीघर में पहुंचकर वहां मौजूद लोगों से बदसलूकी करते हैं। इतना ही नहीं जिलाधिकारी के साथ आये पुलिसकर्मी शादीघर में मौजूद मेहमानो यहां तक कि दूल्हे और विवाह की रस्म कराने आये पंडित को भी नहीं बक्शते। यह वीडियो पश्चिम त्रिपुरा का है। जिलाधिकारी शैलेश यादव की हरकतों का यह वीडियो सोशल मीडिया वायरल होने के बाद लोगों ने जिलाधिकारी के आचरण पर सवाल उठाये तो यह मामला सरकार तक पहुंच गया। हालांकि जिलाधिकारी शैलेश यादव ने अपनी हरकतों पर पछतावा जताते हुए क्षमा भी मांगी और कहा कि कहा कि उनका उद्देश्य किसी की भावना को आहत करना नहीं था लेकिन तब तक सरकार...
पड़ताल: लाल किले पर फहराया गया झंडा खालिस्तान का नहीं
पड़ताल, बड़ी खबर

पड़ताल: लाल किले पर फहराया गया झंडा खालिस्तान का नहीं

नई दिल्ली। किसान ट्रेक्टर परेड के दौरान बेकाबू हुए किसानो का एक जत्था आज लाल किले में घुस गया। इस दौरान कुछ युवको द्वारा लाल किले के एक गुंबद पर चढ़कर एक झंडा लगा दिए जाने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि लाल किले के गुंबद पर लगाया गया झंडा खालिस्तान का था। यह भी दावा किया जा रहा है कि कुछ खालिस्तान समर्थक लाल किले में प्रवेश कर गए और उन्होंने तिरंगा झंडा उतार कर खालिस्तान का झंडा लगा दिया। इस पूरे मामले की पड़ताल में सामने आये सच के मुताबिक लाल किले के एक गुंबद पर लगाया गया झंडा खालिस्तान का नहीं था और न ही इस झंडे को लगाने के लिए लाल किले पर लगा तिरंगा झंडा उतारा गया था। पड़ताल में इस बात की पुष्टि हुई है कि लाल किले के एक गुंबद पर लगाया गया झंडा निशान साहिब (सिख झंडा) था। पड़ताल में सामने आया कि यह झंडा लाल किले की प्राचीर पर नहीं लगाया गया बल्कि लाल...
फेक्ट चेक: पाकिस्तान की संसद में नहीं लगे मोदी मोदी के नारे
पड़ताल, बड़ी खबर

फेक्ट चेक: पाकिस्तान की संसद में नहीं लगे मोदी मोदी के नारे

नई दिल्ली। क्या पाकिस्तान की संसद में मोदी-मोदी के नारे लगे थे। कुछ न्यूज़ चैनलों और डिजिटल प्लेटफॉर्म पर पाकिस्तान की संसद का दो मिंनट का वीडियो चलाया गया। दावा किया गया कि पाकिस्तान की संसद में बहस के दौरान सांसदों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए। बीबीसी के मुताबिक पाकिस्तान की संसद में मोदी-मोदी के नहीं बल्कि वोटिंग-वोटिंग के नारे लगाए गए थे। यह नारे फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के दिए बयान पर पाकिस्तान के सत्ता पक्ष और विपक्ष द्वारा संसद में लाये गए प्रस्ताव पर वोटिंग की मांग को लेकर लगाए गए थे। पाकिस्तान की संसद में लगे वोटिंग वोटिंग के नारो को लेकर कई न्यूज़ चैनलो ने इसका विवरण दिए बिना ही मोदी-मोदी के नारे लगाए जाने का दावा करते हुए इस वीडियो को दिखाया। टाइम्स नाउ, इंडिया टीवी, इकोनॉमिक्स टाइम्स और बड़ी तादाद में सोशल मीडिया बीजेपी समर्थक यूज़र्स सभी ने ये ग़लत दावा किया कि पाकिस्...
पड़ताल: जापान के स्कूलों में रामायण पढ़ना अनिवार्य
पड़ताल, बड़ी खबर

पड़ताल: जापान के स्कूलों में रामायण पढ़ना अनिवार्य

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर सामने आई कुछ पोस्टो में दावा किया जा रहा है कि जापान ने अपने यहाँ के स्कूलों में रामायण को अनिवार्य तौर पर लागू कर दिया है। सोशल मीडिया पर किये जा रहे दावों के मुताबिक जापान के स्कूलों में रामायण को अनिवार्य तौर पर लागू किया गया है। स्कूल में पढ़ने वाले हर बच्चे को रामायण पढ़ना ज़रूरी होगा। हालांकि ऐसा कुछ नहीं है। हमारी पड़ताल में सामने आया है कि सोशल मीडिया पर इस तरह के भ्रामक पोस्ट डाले जा रहे हैं। जिनमे कोई सच्चाई नहीं है। जापान में रामायण पढ़ाये जाने की खबर पूरी तरह सच्चाई से परे हैं और ये सिलसिलेबार झूठ का एक हिस्सा है। सोशल मीडिया पर अपने दावों को सच साबित करने के लिए जापान टाइम्स का हवाला दिया गया है। दावा किया जा रहा है कि जापान टाइम्स ने एक खबर में पुष्टि की है कि जापान में रामायण को अनिवार्य तौर पर लागू किया गया है। हालांकि जापान टाइम्स...
फ्रांसीसी पत्रिका शार्ली एब्डो ने फिर छापे पैग़ंबर मोहम्मद पर विवादित कार्टून
पड़ताल, बड़ी खबर

फ्रांसीसी पत्रिका शार्ली एब्डो ने फिर छापे पैग़ंबर मोहम्मद पर विवादित कार्टून

पेरिस। 2015 में कटटरपंथी हमले का निशाना बन चुकी फ्रांसीसी पत्रिका शार्ली एब्डो ने एक बार फिर पैगंबर मोहम्मद के विवादित कार्टून प्रकाशित किये हैं। इन कार्टूनों को उस समय फिर से प्रकाशित किया गया है जब एक दिन बाद ही 14 लोगों पर शार्ली एब्डो के दफ़्तर पर हमला करने वालों की मदद करने के आरोप में मुक़दमा शुरू होने वाला है। गौरतलब है कि पैगंबर मोहम्मद के विवादित कार्टून प्रकाशित होने के बाद 7 जनवरी वर्ष 2015 को शार्ली हेब्डो के कार्यालय पर हुए हमले में पत्रिका के प्रसिद्द कार्टूनिस्ट सहित 12 लोगों की मौत हो गई थी वहीँ पैरिस में इसी मामले से जुड़े एक अन्य हमले में 05 लोगों की मौत हुई थी। पत्रिका के ताज़ा संस्करण के कवर पेज पर पैग़ंबर मोहम्मद के वे 12 कार्टून छापे गए हैं, जिन्हें शार्ली एब्डो में प्रकाशित होने से पहले डेनमार्क के एक अख़बार ने छापा था। अपने संपादकीय में पत्रिका ने लिखा है कि 2015 ...
पड़ताल: किसी डा आयशा की नहीं हुई कोरोना से मौत
पड़ताल, बड़ी खबर

पड़ताल: किसी डा आयशा की नहीं हुई कोरोना से मौत

नई दिल्ली। ट्विटर पर डा आयशा के नाम से बने प्रोफाइल में खुद को डॉक्टर बताते हुए दावा किया गया कि उसे कोविड-19 के मरीजों के उपचार के लिए अनुबंधित किया गया है। इसी ट्विटर प्रोफ़ाइल से दावा किया गया कि डा आयशा खुद भी कोरोना संक्रमण का शिकार हो गयीं और उसकी मौत हो गई है। एक युवा डॉक्टर के रूप में पहचाने जाने वाले डॉ आइशा की “सेल्फी” पिछले कुछ हफ्तों से सोशल मीडिया पर घूम रही थी और रविवार को टॉप ट्रेंडिंग में आ गई। पड़ताल करने पर पाया गया कि डॉ आयशा की सेल्फी और उसकी “मौत” की खबरें फ़र्ज़ी हैं। सोशल मीडिया पर अस्पताल के बेड लेटे हुए डा आयशा के तौर पर जो तस्वीर वायरल हो रही है, यह वायरल तस्वीर 31 जुलाई को डॉ आइशा ’नामक एक हैंडल द्वारा पोस्ट की गई थी और कैप्शन में दावा किया गया था कि उसे कोविड -19 के लिए अनुबंधित किया गया था और कोरोना संक्रमित होने कारण अब उसे वेंटिलेटर सपोर्ट की आवश्यकता है। डा आ...
मीडिया ने चलाई ये फ़र्ज़ी खबर “राहुल ने कहा- जिसे पार्टी से जाना है वो जाएगा”
पड़ताल, बड़ी खबर

मीडिया ने चलाई ये फ़र्ज़ी खबर “राहुल ने कहा- जिसे पार्टी से जाना है वो जाएगा”

नई दिल्ली। मीडिया द्वारा प्रमुखता से चलाई गई एक खबर को लेकर विवाद पैदा हो गया है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का बयान बताकर मीडिया की सुर्ख़ियों में आई इस खबर का खंडन किया गया है। गौरतलब है कि राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट में चल रहे विवाद के बीच मीडिया में आई एक खबर में कहा गया कि एनएसयूआई की बैठक में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सचिन पायलट को लेकर कहा कि जिसे पार्टी से जाना है वो जाएगा, लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है। जब कोई बड़ा नेता पार्टी छोड़कर जाता है तो आप जैसे लोगों के लिए रास्ते खुलते हैं। इस बैठक में कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे। इतना ही नहीं पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का बयान बताकर चलाई गई फ़र्ज़ी खबर में कहा गया कि राहुल गांधी ने यह बयान सचिन पायलट को लेकर दिया है। समय की गंभीरता को दे...
पड़ताल: फ़र्ज़ी है ये खबर “महिलाओं को 0% व्याज पर मिल रहा 5लाख का लोन”
पड़ताल, बड़ी खबर

पड़ताल: फ़र्ज़ी है ये खबर “महिलाओं को 0% व्याज पर मिल रहा 5लाख का लोन”

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर आजकल पीएम मोदी के फोटो लगे हुए कुछ पोस्ट शेयर किये जा रहे हैं। इन पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि सरकार की एक योजना के तहत महिलाओं को जीरो व्याज पर पांच लाख रुपये का लोन दिया जा रहा है। यह खबर पूरी तरह फ़र्ज़ी है। सोशल मीडिया पर शेयर किये जा रहे भ्रामक पोस्टो में आत्मनिर्भर भारत और पीएम धन लक्ष्मी योजना का नाम लेकर पोस्ट शेयर किये जा रहे हैं। इसी तरह के मिलते जुलते पोस्टो में कहा जा रहा है कि अगर आप एक महिला हैं और आत्मनिर्भर बनना चाहती हैं तो पीएम धन लक्ष्मी योजना के तहत सरकार पांच लाख रुपये का ज़ीरो परसेंट पर लोन दे रही है। ऐसे भ्रामक पोस्टो के आवेदन के लिए नीचे एक लिंक भी शेयर किया गया होता है। प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) ने अपनी ओर से इसका खंडन जारी करते हुए स्थिति को पूरी तरह से साफ कर दिया है। https://twitter.com/PIBFactCheck/status/127145761409471692...
पड़ताल: क्या हथिनी की हत्या को हिन्दू-मुस्लिम रंग देना चाहती थी बीजेपी
पड़ताल, बड़ी खबर

पड़ताल: क्या हथिनी की हत्या को हिन्दू-मुस्लिम रंग देना चाहती थी बीजेपी

नई दिल्ली। केरल के पलक्क्ड़ जिले में एक हथिनी को अन्नास में विस्फोटक खिलाकर हत्या किए जाने का मामला अब राजनैतिक मोड़ ले रहा है। बीजेपी ने इस घटना पर अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने के लिए इसे हिन्दू मुस्लिम एंगिल देने की कोशिश की है। वहीँ इस मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के बयान से राजनीति और गरमा गई है। मेनका गांधी ने इस घटना से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लपेटने की कोशिश की। उन्होंने इसकी ज़िम्मेदारी राहुल गांधी पर डालते हुए कहा कि वे उस एरिया से सांसद हैं उन्होंने कोई एक्शन क्यों नहीं लिया ? https://twitter.com/PrakashJavdekar/status/1268381204782465027 वहीँ इस मामले में सबसे बड़ी चूक केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से हुई। यह चूक वाकई में चूक थी या जानबूझकर की गई चूक थी लेकिन प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर हथिनी की मौत से मुस्लिम बाहुल्य जिले मल्लापुरम को जोड़ दिय...