राजस्थान: गहलोत-पायलट दिल्ली तलब

नई दिल्ली। राजस्थान में राजधानी जयपुर में बुलाई गई कांग्रेस विधायक दल की बैठक गहलोत समर्थक विधायकों के विरोध के कारण रद्द कर दी गई। इस बीच आज जयपुर में गहलोत समर्थक कांग्रेस के 92 विधायकों ने स्पीकर सीपी जोशी को अपने इस्तीफे सौंप दिए।

जयपुर में गहलोत समर्थक कांग्रेस विधायकों ने जो कुछ किया उसकी जानकारी पार्टी नेतृत्व को है। इस पर कड़ी नाराज़गी जताते हुए आज देर रात कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को फोन किया था।

सूत्रों के मुताबिक, केसी वेणुगोपाल ने अशोक गहलोत से कांग्रेस विधायकों द्वारा की जा रही उठापटक को रोकने के लिए कहा। सूत्रों की माने तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस्तीफा देने वाले विधायकों को रोकने में असमर्थता जताई। गहलोत ने यह भी कहा कि ये मेरे बस में नहीं है।

सूत्रों के मुताबिक, आज जयपुर में जो कुछ हुआ इसकी पल पल की जानकारी पार्टी नेतृत्व को दी गई है। इसके बाद पार्टी नेतृत्व की तरफ से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को दिल्ली तलब किया गया है। सूत्रों की माने तो इस मामले को हल करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सभी विधायकों को एक दूसरे के समक्ष बात करने की सलाह दी है।

ये भी पढ़ें:  तेजस्वी और नीतीश से मिले शिवसेना (उद्धव ठाकरे) नेता आदित्य ठाकरे

सूत्रों ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़के, राजस्थान के प्रभारी अजय माकन की मौजूदगी में सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के समक्ष अपनी बात रखेंगे।

सूत्रों ने कहा कि राजस्थान का मसला एक दो दिन में हल होने की संभावना है। सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी इस मामले में दखल दे सकती हैं। सूत्रों ने कहा कि पार्टी नेतृत्व को इस बात की खबर है कि राजस्थान में गहलोत समर्थक विधायक किसके इशारे पर विधानसभा अध्यक्ष को इस्तीफे सौंप रहे हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें