रेलवे का क्रूर मजाक: यात्री को आवंटित किया गया सीट नंबर कोच में था ही नहीं

रेलवे का क्रूर मजाक: यात्री को आवंटित किया गया सीट नंबर कोच में था ही नहीं

लखनऊ। लखनऊ से वाराणसी जाने वाली ट्रेन में सवार एक यात्री के साथ रेलवे ने क्रूर मज़ाक कर दिया। यात्री को जो सीट आवंटित की गई थी वह ट्रेन में मौजूद ही नहीं थी।

जानकारी के मुताबिक, विजय कुमार शुक्ला, जो सोमवार को अपने भाई के साथ यात्रा कर रहे थे, को 14204 लखनऊ-वाराणसी इंटरसिटी एक्सप्रेस के C1 कोच में सीट संख्या 74 और 75 आवंटित की गई थी। जबकि उनके कोच में केवल 73 सीटें थीं। उसने आईआरसीटीसी के जरिए ऑनलाइन टिकट बुक कराया था।

हालांकि टीटीई से शिकायत के बाद उन्हें और उनके भाई को बाद में अलग-अलग सीटें आवंटित की गईं। इस संदर्भ में शुक्ला ने एक अख़बार को बताया कि “एक यात्रा टिकट परीक्षक (टीटीई) ने हमें बताया कि इस तरह के मामले आम हैं और उन्होंने टिकट बुकिंग में गड़बड़ी की शिकायत संबंधित विभाग और उच्च अधिकारियों से की है। लेकिन तकनीकी गड़बड़ी को दूर करने के लिए अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।”

टीटीई ने उन्हें यह भी बताया कि दूसरे कोच में 75 सीटें थीं लेकिन शुक्ला को आवंटित कोच में केवल 73 सीटें थीं। शुक्ला ने कहा, “चूंकि सर्वर कोच में 75 सीटें दिखाता है, वहां 75 लोगों को सीटें आवंटित की जाती हैं। टीटीई ने यह भी कहा कि उन्हें सर्बर से हो रही इस तरह की गलतियों के लिए यात्रियों की नाराज़गी और गालियां सुननी पड़ती हैं।”

ये भी पढ़ें:  SBI, LIC पर अडानी संकट के नतीजों पर सरकार पर हमले के लिए विपक्ष एकजुट

चारबाग रेलवे स्टेशन के स्टेशन निदेशक आशीष सिंह ने तकनीकी खराबी पर ध्यान देते हुए कहा: “इस समस्या को हमारे ध्यान में लाया गया है। हमने रेलवे सूचना प्रणाली केंद्र को सूचना भेज दी है, जो अधिकांश चाबियों को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार है।” भारतीय रेलवे की सूचना प्रणाली। यदि समस्या बनी रहती है, तो हम इस पर गौर करेंगे।”

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें

TeamDigital