राहुल गांधी से मिले चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर

नई दिल्ली। चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने आज पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की। माना जा रहा है कि 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए विपक्ष का संयुक्त गठबंधन बनाये जाने के प्रयासों के तहत प्रशांत किशोर राहुल गांधी से उनकी राय जानने के लिए मिले हैं।

प्रशांत किशोर इससे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) सुप्रीमो शरद पवार से भी मुलाकात कर चुके हैं। हालांकि इस मुलाकात को प्रशांत किशोर ने निजी मुलाकात बताया था।

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, प्रशांत किशोर और राहुल गांधी की बैठक के दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे।

गौरतलब है कि प्रशांत किशोर को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने अपना प्रमुख सलाहकार नियुक्त किया है। इसलिए माना जा रहा है कि प्रशांत किशोर पंजाब कांग्रेस में पैदा हुई अंतर्कलह को समाप्त कराने के लिए कोई फॉर्मूला लेकर राहुल गांधी से मिलने गए थे।

हालांकि कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि आज हुई बैठक में 2024 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की भूमिका और वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य को लेकर भी चर्चा हुई।

ये भी पढ़ें:  श्रीनगर : बलात्कार के आरोप में पत्रकार गिरफ्तार

प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और तमिलनाडु में डीएमके लिए विधानसभा चुनाव के दौरान रणनीतिकार के तौर पर काम किया था और दोनों ही जगह उन्हें सफलता हासिल हुई।

उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यो में कांग्रेस कमबैक करने के लिए कोशिश कर रही है। इसलिए ये कयास भी लगाए जा रहे हैं कि अगले वर्ष उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए रणनीति बनाने का जिम्मा प्रशांत किशोर को सौंपा जा सकता है।

हालांकि पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के परिणाम आने बाद ही प्रशांत किशोर ने यह घोषणा कर दी थी कि वे अब चुनावी रणनीति बनाने के काम से संन्यास ले रहे हैं लेकिन पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से प्रशांत किशोर की मुलाकात ने कई कयासों को जन्म अवश्य दे दिया है।

वहीँ राहुल गांधी और प्रशांत किशोर की मुलाकात पर पंजाब के प्रभारी और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि राहुल गांधी एक राष्ट्रीय नेता हैं, उनसे कई तरह के लोग मिलते हैं और अपनी बात करते हैं। इसका ये मतलब नहीं है कि प्रशांत किशोर यहां पंजाब के विषय में बात करने के लिए आए थे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें