अब नवाब मलिक ने पूर्व सीएम फडणवीस को घेरा, तस्वीरें शेयर कर ड्रग पेडलरों से कनेक्शन के लगाए आरोप

अब नवाब मलिक ने पूर्व सीएम फडणवीस को घेरा, तस्वीरें शेयर कर ड्रग पेडलरों से कनेक्शन के लगाए आरोप

मुंबई। ड्रग्स मामले में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को कटघरे में खड़ा करने के बाद अब बीजेपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उनकी पत्नी को लपेटे में ले लिया है।

नवाब मलिक ने कुछ तस्वीरें साझा करते हुए बीजेपी नेताओं के ड्रग पेडलरो से संबंधो का दावा किया है। नवाब मलिक ने कहा कि महाराष्ट्र में ड्रग का पूरा खेल कहीं न कहीं देवेंद्र जी के आशीर्वाद से चल रहा था और चल रहा है। जांच हो कि इस शहर में देवेंद्र जी का ड्रग के धंधे में क्या कनेक्शन है।

उन्होंने कहा कि जयदीप राणा नाम का एक व्यक्ति ड्रग तस्करी से जुड़े मामले में फिलहाल जेल में बंद है। मलिक ने दावा किया कि इस शख्स का पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से कनेक्शन है।

मलिक ने बताया कि जयदीप राणा फडणवीस की पत्नी अमृता राणा के एक मशहूर गाने का फाइनेंशियल हेड रह चुका है। इतना ही नहीं, मलिक ने यह भी आरोप लगाया कि फडणवीस के कार्यकाल में महाराष्ट्र के अंदर ड्रग का धंधा खूब बढ़ा।

उन्होंने यह भी कहा कि समीर दाऊद वानखेड़े इस शहर में पिछले 14 साल में अलग-अलग विभाग में काम करता है, उसका तबादल करने के पीछे महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस हैं और उसे इसलिए लाया गया है कि पब्लिसिटी करके नाजायज़ लोगों को फंसाया जाए और ड्रग का खेल मुंबई और गोवा में चलता रहे। नवाब मलिक ने कहा कि यह मामला महाराष्ट्र में अवैध ड्रग्स के कारोबार से जुड़ा है। मैं इस मामले में सीबीआई या न्यायिक जांच की मांग करता हूं।

ये भी पढ़ें:  TMC बहस चाहती है, व्यवधान नहीं': संसद हंगामे पर डेरेक ओ'ब्रायन

इतना ही नहीं नवाब मलिक ने राष्ट्रीय अनुसूचि जाति आयोग के चेयरमैन अरुण हलदर के एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के घर जाने पर भी आपत्ति जताई।

उन्होंने कहा कि अरुण हलदर(राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष) एक वैधानिक पद पर बैठ कर उस व्यक्ति के घर जाते हैं जिस पर शक की सुई है। उनके घर पर जाकर कागजात उलट-पलट कर देखते हैं और क्लीन चिट दे देते हैं कि दस्तावेज सही हैं।

नवाब मलिक ने कहा कि अरुण हलदर का व्यवहार कहीं न कहीं संदेह के घेरे में है, सीधे ये कह देना कि समीर दाऊद वानखेड़े ने कोई धर्म परिवर्तन नहीं किया और उनके घर चले जाना। ये बहुत सारे सवाल खड़े कर रहा है। हम इस मामले में राष्ट्रपति से शिकायत करेंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें

TeamDigital