कल जारी होगी कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव के लिए अधिसूचना, इन दिग्गज नेताओं के बीच मुकाबले के आसार

राहुल गांधी के अपने रुख पर कायम रहने के कारण अब 22 साल बाद कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए चुनावी मुकाबले के प्रबल आसार हैं. वर्ष 2000 में सोनिया गांधी और जितेंद्र प्रसाद के बीच मुकाबला हुआ था

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए गुरुवार को अधिसूचना जारी की जाएगी. इसके साथ ही देश के सबसे पुराने राजनीतिक दल के सर्वोच्च पद पर आसीन होने वाले व्यक्ति को चुनने की प्रक्रिया औपचारिक रूप से आरंभ हो जाएगी. पार्टी के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्त्री की अध्यक्षता वाले केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण की ओर से यह अधिसूचना जारी की जाएगी. हालांकि कई प्रेदश कांग्रेस कमेटियों ने राहुल गांधी को एक बार फिर से पार्टी की कमान संभालने को लेकर प्रस्ताव पारित किया है

गहोलत और शशि थरूर के चुनाव लड़ने की संभावना

राहुल गांधी के पार्टी की कमान नहीं संभालने के संकेत देने के बाद अब कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनावी मुकाबला होने के आसार बढ़ गए हैं. पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने पहले ही चुनाव लड़ने का संकेत दे दिया है तो राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भी चुनाव लड़ने की संभावना है. गहलोत ने मंगलवार को जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में कहा था कि यदि वह पार्टी अध्यक्ष के पद के लिए नामांकन भरेंगे तो विधायकों को दिल्ली पहुंचने का संदेश आयेगा.
कई प्रदेश कांग्रेस कमेटियों ने किया प्रस्ताव पारित

ये भी पढ़ें:  बड़ी खबर: PFI गैर कानूनी संगठन घोषित, सरकार ने 5 साल के लिए पाबंदी लगाई

इस बीच, कई प्रदेश कांग्रेस कमेटियों ने प्रस्ताव पारित कर कहा है कि राहुल गांधी को एक बार फिर से पार्टी की कमान संभालनी चाहिए. उधर, कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि विभिन्न पीसीसी की ओर से पारित किए गए प्रस्ताव बाध्यकारी नहीं हैं. उनका यह भी कहना है कि किसी से प्रस्ताव पारित करने के लिए नहीं कहा गया है. कांग्रेस की इन इकाइयों ने ये प्रस्ताव उस वक्त पारित किए हैं, जब गत नौ सितंबर को कन्याकुमारी में राहुल गांधी ने यह संकेत दिया था कि वह पार्टी का अध्यक्ष नहीं बनने के अपने पुराने फैसले पर कायम हैं.
22 साल बाद होगा कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव

राहुल गांधी के अपने रुख पर कायम रहने के कारण अब 22 साल बाद कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए चुनावी मुकाबले के प्रबल आसार हैं. वर्ष 2000 में सोनिया गांधी और जितेंद्र प्रसाद के बीच मुकाबला हुआ था जिसमें प्रसाद को करारी शिकस्त मिली थी. इससे पहले, 1997 में सीताराम केसरी, शरद पवार और राजेश पायलट के बीच अध्यक्ष पद को लेकर मुकाबला हुआ था जिसमें केसरी जीते थे.
राहुल के नामांकन को लेकर वेणुगोपाल ने किया खुलासा

यह पूछे जाने पर कि क्या राहुल गांधी नामांकन पत्र दाखिल करेंगे, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मंगलवार को कहा था, “यह फैसला राहुल गांधी को करना है और उन्होंने हमें इस बारे में कुछ नहीं बताया है. पार्टी प्रमुख की जिम्मेदारी संभालने के लिए राहुल से की गयी अपील के बावजूद, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने इस महीने की शुरूआत में कहा था कि उन्होंने फैसला कर लिया है, लेकिन अपनी योजनाओं का खुलासा नहीं करेंगे. उन्होंने यह भी कहा था कि यदि पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए वह आगामी चुनाव नहीं लड़ेंगे तो वह इसके कारण बता देंगे

ये भी पढ़ें:  सोनिया से मुलाकात के बाद लालू-नीतीश गदगद, 2024 को लेकर कही ये बात

17 अक्टूबर को होगा मतदान

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए घोषित कार्यक्रम के अनुसार, अधिसूचना 22 सितंबर को जारी की जाएगी और नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 24 से 30 सितंबर तक चलेगी. नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि आठ अक्टूबर है. एक से अधिक उम्मीदवार होने पर 17 अक्टूबर को मतदान होगा और नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किये जाएंगे.

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें