मुस्लिम कांग्रेस का साथ दें तो BJP दो सीटों पर सिमट जाएगी: नसीमुद्दीन

बस्ती। उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव में अभी काफी समय बाकी है लेकिन इससे पहले ही राज्य में राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं। इस बीच कांग्रेस नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने अपने बयान से प्रदेश के मुस्लिम मतदाताओं को साधने की कोशिश की है।

बस्ती में उलेमाओं की बैठक में कांग्रेस नेता नसीमुद्दीन सिद्दीक़ी ने मुसलमानों से कांग्रेस के साथ आने की अपील की। उन्होंने दावा किया कि यदि प्रदेश के मुस्लिम मतदाता कांग्रेस के साथ आ जाएं तो बीजेपी 2 सीटों पर सिमट जाएगी।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में लगभग 20 फीसदी मुस्लिम मतदाता हैं और राज्य विधानसभा की 100 से अधिक सीटों पर निर्णायक भूमिका में हैं। इनमे अधिकांश सीटें पश्चिमी उत्तर प्रदेश से हैं।

वहीँ नसीमुद्दीन सिद्दीकी से घबराई भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर हिन्दू मुस्लिम कार्ड खेलने का आरोप लगाया है। दरअसल पिछले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को सेकुलर मतो के विभाजन का सीधा लाभ मिला था। मुस्लिम बाहुल्य इलाको में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन का खेल बिगाड़ने के लिए बहुजन समाज पार्टी ने बड़ी तादाद में मुस्लिम उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था।

ये भी पढ़ें:  अब मुख़्तार अंसारी को एक और मामले में 5 साल की सजा का एलान

हालांकि अगले वर्ष होने वाले उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर अभी तक विपक्ष की तस्वीर साफ़ नहीं है लेकिन फ़िलहाल इतना ही तय है समाजवादी पार्टी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय लोकदल और पूर्वी उत्तर प्रदेश अपना दल जैसे कुछ दलों के साथ गठबंधन कर सकती है।

वहीँ बहुजन समाज पार्टी के बारे में कहा जा रहा है कि वह अकेले दम पर चुनाव लड़ेगी तो दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश को लेकर कांग्रेस ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

अगले वर्ष उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी के पास खुश होने के लिए कई कारण हैं। असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम एक बार फिर विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है। वहीँ दूसरी तरफ शिवपाल यादव की पार्टी प्रोग्रेसिव समाजवादी पार्टी भी गठबंधन में सम्मानजनक सीटें न मिलने की दशा में अकेले सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कह रही है।

इसलिए यदि प्रदेश में अलग थलग पड़े विपक्ष की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आता तो बीजेपी को एक बार फिर सेकुलर वोटों के विभाजन से बड़ा फायदा मिलना तय है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें