ममता ने लिए कई बड़े फैसले, बीजेपी पर लगाया हिंसा के पुराने वीडियो शेयर करने का आरोप

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के चुनाव परिणाम आने के बाद हुई हिंसा की घटनाओं को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि ऐसी किसी भी घटना को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने आरोप लगाया कि जिन जगहों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है वहां गड़बड़ी ज्यादा है। बीजेपी पुराने वीडियो के माध्यम से फर्जी घटनाओं के बारे में प्रसारित कर रही है।

ममता बनर्जी ने सभी राजनीतिक दलों से अपील करते हुए कहा कि सभी राजनीतिक दलों से मेरी अपील है कि इसे रोकें। आप सभी ने चुनाव के दौरान बहुत कुछ किया है। बंगाल एकता का स्थान है।

वहीँ इससे पहले ममता बनर्जी ने बड़ा प्रशासनिक फेरबदल करते हुए आईपीएस ऑफिसर वीरेंद्र को बंगाल का डीजीपी तथा जावेद शमीम को बंगाल का एडीजी(लॉ एंड ऑर्डर) नियुक्त किया। पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान चुनाव आयोग द्वारा नियुक्त एडीजी(लॉ एंड ऑर्डर) को जगमोहन का सिविल डिफेन्स और निरंजन पांडेय को फायर एवं इमरजेंसी सर्विस में तबादला कर दिया है।

पश्चिम बंगाल में कोरोना महामारी से निपटने के लिए उठाये गए कदमो का हवाला देते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य में COVID19 स्थिति को देखते हुए, हमें कुछ कदम उठाने होंगे। मास्क पहनना अनिवार्य है, राज्य सरकार के कार्यालयों में केवल 50% उपस्थिति होगी। शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, जिम, सिनेमा हॉल, ब्यूटी पार्लर बंद किए जाएं तथा सभी सामाजिक / राजनीतिक सभाओं पर रोक रहेगी।

ये भी पढ़ें:  PFI Banned : PFI का निकला आतंकी कनेक्शन, जांच में खुलासा

उन्होंने कहा कि अंतर्राज्यीय बसों में रैंडम चेकिंग की जाएगी, आरटी-पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट पुरानी नहीं है तो यात्रियों के लिए 72 घंटे अनिवार्य है। ट्रेन सेवाओं के यात्रियों के लिए भी यह नियम लागू होता है।

इसके अलावा निजी क्षेत्र के लिए 50% कर्मचारियों के लिए घर से काम करने की अनुमति है। ज्वेलरी की दुकानें दोपहर 12 से 3 बजे तक खुली रहेंगी। होम डिलीवरी को प्रोत्साहित किया जाए। बैंक सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक संचालित होंगे।

गौरतलब है कि बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा दो दिन के दौरे पर कल पश्चिम बंगाल पहुंचे थे। उन्होंने बंगाल में हुई हिंसा की घटनाओं के लिए सीधे तौर पर तृणमूल कांग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराया था। उन्होंने राज्य में कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाये थे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें