गोपालगंज : थावे मंदिर में प्रवेश द्वार पर मची अफरा-तफरी, बेकाबू हुई भीड़, कई श्रद्धालु हुए जख्मी

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठ थावे वाली के दरबार में भक्तों की भारी भीड़ जुटी थी. रात के 2 बजे से मंदिर के बाहर लंबी कतारें लगनी शुरू हो गयी. इसी दौरान थावे मंदिर के प्रवेश द्वार पर अचानक अफरा-तफरी मच गयी, जिससे कई श्रद्धालु जख्मी हो गये है

गोपालगंज से बड़ी खबर सामने आ रही है. नवरात्रि का आज महाष्टमी है. आज मां महागौरी की पूजा हो रही है. दुर्गा मंदिरों में सुबह से भक्तों की भीड़ है. बिहार के प्रमुख शक्तिपीठ थावे वाली के दरबार में भी भक्तों की भारी भीड़ जुटी है. रात के 2 बजे से मंदिर के बाहर लंबी कतारें लगी हैं. बेकाबू भीड़ के आगे पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था फेल हो गई. वहीं प्रशासन की ओर से सुरक्षा में लापरवाही भी बरती जा रही है. आरती के बाद मंदिर में भगदड़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई. कई महिला श्रद्धालु निकास गेट पर दबकर जख्मी हो गए. हालांकि पुजारियों ने स्थिति को तुरंत संभाल लिया. अफरा-तफरी की स्थिति काफी देर तक बनी रही

स्काउट के बच्चों के भरोसे मंदिर की सुरक्षा!

थावे मंदिर सुरक्षा को लेकर पहले से संवेदनशील है. नवरात्रि में यहां होने वाली भीड़ के मद्देनजर मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गयी है, लेकिन सोमवार की सुबह में आरती के वक्त तक कोई भी पदाधिकारी और मजिस्ट्रेट मंदिर की सुरक्षा में नजर नहीं आया. लिहाजा स्काउट गाइड के 40 छात्रों के भरोसे रविवार की देर रात से ही मंदिर की सुरक्षा की जिम्मेदारी है.

ये भी पढ़ें:  गुजरात में पहले चरण के चुनाव के लिए प्रचार का काम पूरा, अंतिम दिन दिग्गजों ने बहाया पसीना

महाअष्टमी पर किया गया भव्य श्रृंगार

महाअष्टमी के मौके पर मां महागौरी की पूजा हो रही है. मां थावे वाली की दिव्य श्रृंगार की गयी है. माता की श्रृंगार यहां के माली कलकता से फूल भंडार के संचालक अशोक कुमार द्वारा की जाती है. वैसे तो सालों भर यहां माता का श्रृंगार किया जाता है, लेकिन नवरात्र में विदेशी और देशी फूलों से भव्य श्रृंगार किया जा रहा है, जो भक्तों को खूब लुभा रहा है

रात 1 बजे से शुरू होगी महानिशा पूजा

थावे मंदिर में हवन कुंड बनकर तैयार हो गया है. रात के एक बजे से हवन होगी. महानिशा पूजा के बाद हवन मंदिर के बाहर होगी. हवन कुंड को चारों तरफ से घेरकर सुरक्षित किया गया है. रात 12 बजे के बाद नवमी तिथि प्रारंभ हो जायेगी. नवमी को हवन करने के लिए बिहार के अलावा यूपी, पश्चिम बंगाल और नेपाल से काफी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं.
हथुआ राज परिवार करेगा पहली पूजा

थावे मंदिर में महानिशा पूजा आज रात के 12 बजे होगी. महानिशा पूजा को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गयी है. हथुआ राज की ओर से महानिशा पूजा की रात पहली पूजा की जाती है. हथुआ राज परिवार मां थावे वाली को अपना कुल देवी मानता है, यही वजह है कि मां थावे वाली को पहली पूजा हथुआ राज की ओर से की जाती है

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें