महात्मा गांधी पर अपमानजनक टिप्पणी करने वाले कथित संत के खिलाफ एफआईआर

रायपुर। एक कार्यक्रम में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर अपमानजनक टिप्पणी करने वाले कथित संत और हिंदू धर्मगुरु कालीचरण महाराज तथा अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

हरिद्वार की तर्ज पर छत्तीसगढ़ के रायपुर में रविवार आयोजित धर्म संसद के दौरान हिंदू धर्मगुरु कालीचरण महाराज ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर अपमानजनक टिप्पणी करते हुए उन्हें हरामी और कायर कहा था। इतना ही नही कालीचरण ने नाथूराम गोडसे द्वारा राष्ट्रपिता की हत्या को भी सही ठहराया था। इस कार्यक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

इस मामले में रायपुर के पूर्व मेयर और कांग्रेस नेता प्रमोद दुबे की शिकायत पर पुलिस ने टिकरापारा थाने में आईपीसी की धारा 505(2), 294 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

इस घटना को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीजेपी पर हमला बोला है। सीएम बघेल ने कहा, ‘उनके द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के बारे में इतना बड़ा बयान दिया गया है लेकिन भाजपा नेताओं की तरफ़ से मामले में एक भी बयान नहीं आया है। भाजपा मौन है। ये धरती शांति की है।’

छत्तीसगढ़ के सीएम ने आगे कहा कि, ‘यहां पर उत्तेजक और हिंसात्मक बातें बर्दाश्त नहीं की जाती है। राष्ट्रपिता के बारे में इस प्रकार की बातें बोलना निश्चित रूप से दर्शाता है कि उनकी मानसिक स्थिति क्या है। जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। जितने भी कड़े कदम उठाए जा सकते हैं वह उठाए जाएंगे।’

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें