जामा मस्जिद में अकेली लड़की और लड़कियों के समूह के प्रवेश पर रोक, महिला आयोग ने भेजा नोटिस

नई दिल्ली। जामा मस्जिद में अकेली लड़की और लड़कियों के समूह के प्रवेश पर रोक लगाई गई है। जामा मस्जिद इंतजामिया द्वारा अकेली लड़की या लड़कियों के समूह के प्रवेश पर रोक लगाए जाने को दिल्ली महिला आयोग ने गैर संवैधानिक करार देते हुए कड़ी आपत्ति जताई है।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने जामा मस्जिद के शाही इमाम को हाल ही में जामा मस्जिद में महिलाओं के अकेले या समूह में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने पर संज्ञान लेते हुए नोटिस जारी किया है।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि दिल्ली महिला आयोग ने शाही इमाम को नोटिस जारी किया है। हम चाहते हैं कि ये गैर संवैधानिक हरकत तुरंत खत्म हो।

उन्होंने कहा कि ये बहुत ही शर्मनाक और गैर संवैधानिक हरकत है। इन्हें क्या लगता है ये भारत नहीं ईरान है कि इनका जब मन करेगा महिलओं से ये भेदभाव करेंगे और इन्हें कोई कुछ नहीं कहेगा। जितना हक एक पुरुष का इबादत करने का है उतना ही एक महिला का भी है।

इबादत करने वालों के लिए कोई रोक नहीं:

जामा मस्जिद के PRO सबीउल्लाह खान ने कहा, “अकेली लड़कियों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है। यह एक धार्मिक स्थल है, इसे देखते हुए निर्णय लिया गया है। इबादत करने वालों के लिए कोई रोक नहीं है।”

ये भी पढ़ें:  राहुल गांधी ने दिखाई वीर सावरकर की चिट्ठी, कहा 'ये अंग्रेजो की करते थे मदद'

गेट नंबर 3 से हटाया गया नोटिस:

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, जामा मस्जिद में अकेले या समूह में महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने का नोटिस मस्जिद के गेट नंबर 3 से हटा दिया गया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें