टूलकिट मामले में ट्विटर पर दिल्ली पुलिस की छापेमारी

नई दिल्ली। कथित टूलकिट मामले में आज दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की एक टीम ने ट्विटर के ऑफिस पर छापेमारी की है। जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने ट्विटर के दिल्ली स्थित लाडो सराय और गुड़गांव के ऑफिस में छापा मारा है।

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की टीम ट्विटर के लाडो सराय स्थित ऑफिस में करीब एक घंटे तक मौजूद रही वहीँ गुड़गांव में दिल्ली पुलिस को निराशा हाथ लगी। गुड़गांव में ट्विटर के ऑफिस का दरवाजा नहीं खोला गया तो टीम को वापस लौटना पड़ा।

गौरतलब है कि बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा और महासचिव बीएल संतोष ने कांग्रेस का टूलकिट बताते हुए कुछ दस्तावेज ट्वीट किये थे। बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने पीएम नरेंद्र मोदी की छवि खराव करने के लिए यह टूलकिट बनाया है।

बीजेपी के आरोपों पर कांग्रेस ने इस टूलकिट को फ़र्ज़ी करार देते हुए पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई। कांग्रेस ने अपनी शिकायत में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, बीजेपी महासचिव बीएल सतोष और बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के नामो का उल्लेख करते हुए कहा कि बीजेपी ने कांग्रेस को बदनाम करने की नीयत से कांग्रेस के शोध विभाग के फ़र्ज़ी लैटर पेड का उपयोग कर खुद ही यह टूलकिट तैयार की है।

ये भी पढ़ें:  राजनीतिक दलों के खोखले चुनावी वादों के दूरगामी प्रभाव होंगे : निर्वाचन आयोग

हालांकि बीजेपी प्रवक्ता द्वारा ट्वीट किये गए दस्तावेजों को ट्विटर ने जल्द ही मेनिपुलेटेड मीडिया का टैग देते हुए दस्तावेजों को संदिग्ध मीडिया की केटेगरी में डाल दिया।

वहीँ ट्विटर द्वारा मेनिपुलेटेड मीडिया का टैग दिए जाने पर केंद्र सरकार ने भी ट्विटर के खिलाफ अपनी नाराज़गी जताते हुए मनिपुलेटेड टैग हटाए जाने के लिए कहा है।

फिलहाल कांग्रेस की एफआईआर पर बीजेपी नेताओं से पूछताछ की जगह दिल्ली पुलिस ने ट्विटर के कार्यालयों पर छापेमारी की है लेकिन दिल्ली पुलिस को इस छापेमारी से क्या मिला इसकी अभी जानकारी सामने नहीं आई है।

अधिक जानकारी के लिए इस खबर पर बने रहिये।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें