कांग्रेस का ट्विटर को पत्र: मोदी के 11 मंत्रियों के ट्वीट्स को मेनिपुलेटेड मीडिया करार देने की मांग

नई दिल्ली। टूलकिट मामले में कांग्रेस ने आज एक और कदम उठाते हुए ट्विटर को पत्र लिखकर मोदी सरकार के 11 मंत्रियों के ट्वीट्स को मेनिपुलेटेड मीडिया करार देने की मांग की है।

कांग्रेस महासचिव और मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्विटर के लीड फॉर लीगल, पॉलिसी एंड ट्रस्ट एंड सेफ्टी विजया गड्डे और उसके डिप्टी जनरल काउंसिल और वाइस प्रेसिडेंट (लीगल) जिम बेकर को पत्र लिखकर मंत्रियों के खिलाफ कथित तौर पर झूठे और जाली दस्तावेज फैलाने के लिए कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

कांग्रेस का आरोप है कि ये सभी मंत्री ट्विटर प्लेटफार्म का गलत इस्तेमाल कर फर्जी टूलकिट के जिए कांग्रेस के खिलाफ दुष्प्रचार कर रहे हैं। इन सबके संबंधित ट्वीट के लिंक भी इस पत्र के साथ संलग्न किया गया है। पत्र में ट्विटर के साथ इसके पहले पत्राचार का हवाला देते हुए लिखा गया कि ट्विटर ने ट्वीट्स के जो यूआरएल मांगे थे, वे दिए जा रहे हैं।

कांग्रेस ने जिन केंद्रीय मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है उनमें गिरिराज सिंह, पीयूष गोयल, स्मृति ईरानी, रविशंकर प्रसाद, प्रह्लाद जोशी, धर्मेंद्र प्रधान, रमेश पोखरियाल निशंक, थावरचंद गहलोत, हर्षवर्धन, मुख्तार अब्बास नकवी और गजेंद्र सिंह शेखावत के नाम शामिल हैं।

इससे पहले कल दिल्ली पुलिस की स्पेशल सैल की एक टीम ने फ़र्ज़ी टूलकिट मामले ट्विटर के दिल्ली और गुड़गांव स्थित दफ्तर पर छापेमारी की थी। दिल्ली के लाडो सराय स्थित ट्विटर के ऑफिस पर दिल्ली पुलिस की टीम करीब एक घंटे तक मौजूद थी वहीँ गुड़गांव में ट्विटर का ऑफिस खुलवाने में पुलिस नाकाम रही और उसे खाली हाथ वापस लौटना पड़ा।

ये भी पढ़ें:  बीजेपी का दावा: भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के लिए बॉलीवुड स्टार्स को दिए गए पैसे

गौरतलब है कि बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा और महासचिव बीएल संतोष ने कांग्रेस का टूलकिट बताते हुए कुछ दस्तावेज ट्वीट किये थे। बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने पीएम नरेंद्र मोदी की छवि खराव करने के लिए यह टूलकिट बनाया है।

बीजेपी के आरोपों पर कांग्रेस ने इस टूलकिट को फ़र्ज़ी करार देते हुए पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई। कांग्रेस ने अपनी शिकायत में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, बीजेपी महासचिव बीएल सतोष और बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के नामो का उल्लेख करते हुए कहा कि बीजेपी ने कांग्रेस को बदनाम करने की नीयत से कांग्रेस के शोध विभाग के फ़र्ज़ी लैटर पेड का उपयोग कर खुद ही यह टूलकिट तैयार की है।

हालांकि बीजेपी प्रवक्ता द्वारा ट्वीट किये गए दस्तावेजों को ट्विटर ने जल्द ही मेनिपुलेटेड मीडिया का टैग देते हुए दस्तावेजों को संदिग्ध मीडिया की केटेगरी में डाल दिया।

वहीँ ट्विटर द्वारा मेनिपुलेटेड मीडिया का टैग दिए जाने पर केंद्र सरकार ने भी ट्विटर के खिलाफ अपनी नाराज़गी जताते हुए मनिपुलेटेड टैग हटाए जाने के लिए कहा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें