सीएम कह रहे ‘विकास की नदियां’ बह रहीं लेकिन लाईझापी में दो किमी. दूर से लाना पड़ रहा पानी

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनके मंत्रिमंडल में शामिल मंत्री राज्य में विकास को लेकर भले ही कुछ भी दावे करें लेकिन बड़वानी जिले में सरकार के दावों की पोल खुल गई है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बड़वानी ज़िले के लाईझापी में स्थानीय लोगों को पानी की ज़रूरतें पूरी करने के लिए दो से ढाई किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है।

मध्य प्रदेश में विकास के दावों की पोल खोलता बड़वानी जिला मध्य प्रदेश के दक्षिण पश्चिम में स्थित है। यहां लाईझापी इलाके के लोग पिछले काफी समय से पीने के पानी की किल्ल्त से जूझ रहे है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए एक स्थानीय ने बताया, “पानी के लिए 2-2.5 किलोमीटर दूर जाना पड़ता है, पानी के लिए लंबी कतार लगती है। बहुत समस्या है। इस समस्या के कारण गांव के लड़कों की शादी भी नहीं हो पा रही है।”

वहीँ पानी की इस किल्ल्त को लेकर एएनआई से बात करते हुए मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने सफाई दी कि “आज ही हमारे संज्ञान में ये बात आई है। हर गांव में हर घर तक पानी पहुंचाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। पानी के लिए हम लोगों को दूर नहीं जाने देंगे। हम ज़िलाधिकारी से बात करके पानी की जल्द से जल्द व्यवस्था कराएंगे।”

फिलहाल देखना है कि लाईझापी के लोगों की परेशानी दूर करने के लिए सरकार की तरफ से कब प्रयास शुरू होते हैं और तेज गर्मी के इस मौसम में दो किलोमीटर दूर से पानी लाने को मजबूर स्थानीय लोगों को कब राहत मिलती है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें