बुमराह टी20 विश्व कप में नहीं खेल पाने से निराश

नयी दिल्ली : भारत के स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह पीठ की चोट के कारण टी20 विश्वकप में नहीं खेल पाने से बेहद निराश हैं लेकिन वह इस प्रतियोगिता के दौरान अपनी टीम का उत्साहवर्धन करते रहेंगे।

बुमराह ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘‘ बेहद निराश हूं कि मैं इस बार टी20 विश्वकप का हिस्सा नहीं बन पाऊंगा, लेकिन अपने प्रियजनों से मिली शुभकामनाओं, सहयोग और समर्थन के लिए आभारी हूं। चोट से उबरने के दौरान मैं टीम का उत्साहवर्धन करता रहूंगा।’’

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने सोमवार को कहा था कि बुमराह आईसीसी टी20 विश्व कप में नहीं खेल पाएंगे जो भारत के लिए बहुत बड़ा झटका माना जा रहा है।

बुमराह की अनुपस्थिति निश्चित तौर पर ऑस्ट्रेलिया में भारत की संभावनाओं को प्रभावित करेगी क्योंकि डेथ ओवरों की गेंदबाजी अभी टीम के लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय है।

यह तेज गेंदबाज राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में उपचार करा रहा है और बीसीसीआई को उनकी चिकित्सा रिपोर्ट का इंतजार था लेकिन यह तय था कि वह अगले कई महीनों तक क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे।

बुमराह को पीठ में दर्द के कारण दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्तमान टी20 श्रृंखला से बाहर होना पड़ा था।

बुमराह पहले भी पीठ दर्द से परेशान रहे हैं। उन्हें 2019 में इसी वजह से तीन महीने तक बाहर रहना पड़ा था लेकिन इस बार उन्हें चार से छह महीने तक बाहर रहना पड़ सकता है।

ये भी पढ़ें:  बांग्लादेश के खिलाफ एक दिवसीय सीरीज में नहीं खेल पाएंगे मोहम्मद शमी

बुमराह ने इस साल भारत की तरफ से तीनों प्रारूपों में समान पांच – पांच मैच जबकि इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियंस की तरफ से उन्होंने 14 मैच खेले।

 

बीसीसीआई ने बुमराह की जगह पर अभी तक किसी खिलाड़ी का चयन नहीं किया है। स्टैंडबाई की सूची में रखे गए तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी यदि कोविड-19 से उबरने के बाद पूरी फिटनेस हासिल कर लेते हैं तो उन्हें टीम में लिया जा सकता है।

अगर शमी पूरी तरह से फिट नहीं होते हैं तो फिर दीपक चाहर या मोहम्मद सिराज में से किसी को विश्वकप टीम में जगह मिल सकती है।

भारतीय टीम गुरुवार को आस्ट्रेलिया के लिए रवाना होगी।

विश्वकप 16 अक्टूबर से पहले दौर के मैचों से शुरू होगा जिसमें से चार टीमें सुपर 12 में प्रवेश करेंगी। सुपर 12 के मैच 22 अक्टूबर से खेले जाएंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें