Ankita Murder Case : अंकिता मर्डर के बाद उत्तराखंड में भारी बवाल

अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले में भाजपा ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता विनोद आर्य और भाई अंकित आर्य को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया. अंकित आर्य से राज्यमंत्री का दर्जा भी छीन लिया गया

अंकिता भंडारी की हत्या के बाद उत्तराखंड के स्थानीय लोगों में भारी आक्रोश है. लोगों ने आरोपी भाजपा नेता के वनतारा रिजॉर्ट में आग लगा दी. इसके अलावा गुस्साये लोगों ने यमकेश्वर की बीजेपी विधायक रेणु बिष्ट की गाड़ी में तोड़फोड़ भी की गयी. यहां तक ही आरोपियों को भी लोगों ने जमकर पीटा. रिजॉर्ट का मालिकाना हक बीजेपी नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य के पास है. हत्याकांड में पुलकित समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

अंकिता का हुआ पोस्टमार्टम

एम्स ऋषिकेश में अंकिता भंडारी का पोस्टमार्टम किया गया. जिसके बाद परिजन को शव सौंप दिया गया. बताया जा रहा है कि अंकिता का अंतिम संस्कार हरिद्वार में किया जाएगा.

#WATCH | Rishikesh, Uttarakhand: Locals protested against BJP MLA Renu Bisht & vandalised her car as they agitated over Ankita Bhandari murder case.The MLA was escorted away by Police

3 accused,incl BJP leader Vinod Arya’s son Pulkit Arya, arrested in connection with the matter pic.twitter.com/RExf8pExAS
— ANI (@ANI) September 24, 2022

भाजपा ने विनोद आर्य और अंकित को पार्टी से किया निष्कासित

ये भी पढ़ें:  सत्येंद्र जैन को जेल में सुविधाएं: मामला गहराया, कोर्ट ने जेल प्रशासन से मांगी रिपोर्ट

अंकिता भंडारी हत्याकांड मामले में भाजपा ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता विनोद आर्य और भाई अंकित आर्य को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया. अंकित आर्य से राज्यमंत्री का दर्जा भी छीन लिया गया.

WATCH | #AnkitaBhandari murder case: Locals set Vanatara resort in Rishikesh, Uttarakhand on fire.

The resort is owned by BJP leader Vinod Arya’s son Pulkit Arya. Three accused, including Pulkit, have been arrested in connection with the murder case. pic.twitter.com/7Zx0T6HJIB
— ANI UP/Uttarakhand (@ANINewsUP) September 24, 2022

क्या है मामला

दरअसल उत्तराखंड के एक रिजॉर्ट की लापता रिसेप्शनिस्ट का शव शनिवार सुबह चीला नहर से बरामद हुआ. बताया जा रहा है कि अंकिता भंडारी की हत्या करके शव को चीला नहर में फेंक दिया गया था.

सभी आरोपियों ने अपराध स्वीकारा

पुलकित आर्य, रिजॉर्ट के प्रबंधक सौरभ भास्कर और सहायक प्रबंधक अंकित गुप्ता को लड़की की हत्या करने और शव चीला नहर में फेंकने का अपराध स्वीकार कर लिया, जिसके बाद तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. कोर्ट में पेशी के बाद तीनों को 14 दिनों की हिरासत में भेज दिया गया. पौड़ी के एएसपी शेखर चंद्र सुयाल ने बताया था कि शुरुआत में आरोपियों ने पुलिस को भ्रमित करने की कोशिश की, लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने पर उन्होंने अपराध स्वीकार कर लिया. लड़की का शव मिलने से पहले उसके अभिभावकों ने शिकायत दर्ज कराई थी कि वह सोमवार से लापता है.

ये भी पढ़ें:  तेलंगाना के सीएम की बेटी पर BJP सांसद की आपत्तिजनक टिप्पणी, TRS कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़

अंकिता मर्डर केस की जांच के लिए एसआईटी गठित

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अंकिता मर्डर केस की जांच एसआईटी से कराने का आदेश दे दिया है. उन्होंने ट्वीट किया, आज सुबह बेटी अंकिता का पार्थिव शव बरामद कर लिया गया. इस हृदयविदारक घटना से मन अत्यंत व्यथित है. उन्होंने कहा, ‘दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने हेतु पुलिस उपमहानिरीक्षक पी रेणुका देवी जी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन कर इस गंभीर मामले की गहराई से जांच के आदेश दे दिए हैं. इस मामले का मुख्य आरोपी पुलकित आर्य रिजॉर्ट का मालिक है जहां पीड़िता नौकरी करती थी. पुलकित हरिद्वार से भाजपा नेता विनोद आर्य का बेटा है. विनोद आर्य उत्तराखंड माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष रह चुके हैं. भाजपा नेता के बेटे ने गैरकानूनी तरीके से पौड़ी जिले के यमकेश्वर ब्लॉक में इस रिजॉर्ट का निर्माण कराया था जिसे शुक्रवार रात ध्वस्त कर दिया गया. धामी ने कहा, हमारा संकल्प है कि इस जघन्य अपराध के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें