सपा सांसद ने सरकार को चेताया, उचित कदम नहीं उठाये तो देश में होंगे श्रीलंका जैसे हालात

नई दिल्ली। आर्थिक कंगाली से जूझ रहे श्रीलंका में प्रतिदिन हालात बद से बदत्तर होते जा रहे हैं। इस बीच श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने सोमवार को अपने भाई और वित्त मंत्री बेसिल राजपक्षे को उनके पद से बर्खास्त कर दिया है।

श्रीलंका में पैदा हुए हालातो पर भारत में भी चिंता व्यक्त की जा रही है। देश में बढ़ती मंहगाई के साथ साथ पेट्रोल डीजल की आसमान छूती कीमतों पर समाजवादी पार्टी के सांसद राम गोपाल यादव ने चिंता जताई है।

समाजवादी पार्टी से सांसद राम गोपाल यादव ने कहा कि जल्द ही श्रीलंका जैसे हालात यहां भी हो सकते हैं। केंद्र के पास इतना पैसा नहीं होगा कि वे सरकारी कर्मचारियों को वेतन भी दे सकें।

सपा सांसद ने कहा कि केंद्र पर 2 साल में 4.27 लाख करोड़ रुपये की एससीआई सब्सिडी बकाया है। उनके पास कोई पैसा नहीं है, यह सरकार दिवालिया हो गई है।

सपा से राज्यसभा सांसद जया बच्चन ने कहा कि मुझे तो डर ये लग रहा है कि कहीं बेरोजगार और गरीब लोग सड़कों पर न उतर आएं और भारत में फ्रेंच रिवॉल्यूशन (फ्रांसीसी क्रांति) जैसा न हो जाए।

कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने ट्विटर पर लिखा, “मोदी सरकार में अब हर सुबह उमंग नहीं, बल्कि महंगाई की उदासी लेकर आती है! फ्यूल लूट की नई किस्त। आज सुबह भी पेट्रोल और डीजल 40 पैसे प्रति लीटर। सीएनजी भी 2.50 रुपये प्रति किलो महंगा हुआ। 14 दिन में पेट्रोल डीजल की कीमत 8.40 रुपये बढ़ी। 25 दिन में सीएनजी के दाम 11.07 रुपये बढ़े। भाजपा को वोट मतलब ‘महंगाई को मैंडेट’?”

ये भी पढ़ें:  चुनाव सभा में आज़म खान के भाषण के खिलाफ महिला ने दर्ज कराया केस

इस बीच श्रीलंका में आर्थिक स्थिति पूरी तरह चरमरा गयी है। खोखली आर्थिक स्थिति और मंहगाई के खिलाफ श्रीलंका के नागरिक सड़क पर उतर पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। न्यूज़ एजेंसी एनएनआई के मुताबिक, एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि हम चाहते हैं कि हमारे राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे पद से इस्तीफा दें। अर्थव्यवस्था चरमरा गई है और हमारे पास खाने के लिए खाना नहीं है, हमारे पास गैस नहीं है, बिजली कुछ भी नहीं है। राजपक्षे का परिवार इस सब के लिए जिम्मेदार है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें