सीन रिक्रिएट करने के लिए एसआईटी टीम आशीष मिश्रा व अन्य को घटना स्थल पर लाई

लखीमपुर खीरी। लखीमपुर खीरी के तिकोनिया गांव में हुई घटना के सीन को रिक्रिएट करने के लिए गुरुवार को एसआईटी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा और इस मामले में गिरफ्तार तीन अन्य लोगों को घटना स्थल पर लेकर पहुंची।

पीटीआई के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि कड़ी सुरक्षा के बीच आशीष मिश्रा सहित चारों आरोपियों को लखीमपुर शहर के जिला मुख्यालय से करीब 60 किलोमीटर दूर तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर घटना स्थल पर ले जाया गया।

गौरतलब है कि 3 अक्टूबर को हुई हिंसा में आठ लोगों की मौत हो गई थी और उनमें से चार किसान थे, जिन्हें कथित तौर पर एक एसयूवी से कुचलने की कोशिश की गई थी। आरोप है कि इस एसयूवी में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा का बीटा आशीष मिश्रा अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मौजूद था। अन्य मृतकों में भाजपा के दो कार्यकर्ता और उनका चालक शामिल है। इस घटना में एक पत्रकार की भी मौत हो गई थी।

इस घटना को लेकर किसानों का दावा है कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा वाहनों में से एक में थे, उनके और उनके पिता ने इस आरोप का खंडन किया कि वे यह साबित करने के लिए सबूत पेश कर सकते हैं कि वह उस समय एक कार्यक्रम में थे।

ये भी पढ़ें:  कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: सबसे बड़े दावेदार के तौर पर दिग्विजय सिंह की एंट्री

आशीष मिश्रा ‘मोनू’ को 12 घंटे की पूछताछ के बाद 9 अक्टूबर को मामले में गिरफ्तार किया गया था, और एक स्थानीय अदालत ने आशीष मिश्रा को 12 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक की पुलिस हिरासत में भेजने की पुलिस की मांग को स्वीकार कर लिया है।

अन्य तीन आरोपियों में शेखर भारती को 12 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था, और अंकित दास और लतीफ उर्फ ​​काले को 13 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था। अंकित दास, लतीफ और भारती को भी 14 अक्टूबर से 17 अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में भेजा गया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें