कालीचरण की गिरफ्तारी पर तिलमिलाई मध्य प्रदेश सरकार

भोपाल ब्यूरो। रायपुर में आयोजित धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के लिए अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने वाले कथित संत कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी को लेकर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सरकार आमने सामने आ गई हैं।

कालीचरण को छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा मध्य प्रदेश के खजुराहो से गिरफ्तार किये जाने पर मध्य प्रदेश सरकार ने सवाल उठाये हैं। गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए मध्यप्रदेश सरकार के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार चाहती तो उन्हें (कालीचरण महाराज) नोटिस देकर भी बुला सकती थी। मध्य प्रदेश डीजीपी से कहा गया है कि मामले को लेकर छत्तीसगढ़ के डीजीपी से बात करें। गिरफ़्तारी के इस तरीके पर आपत्ति व्यक्त कराएं।

वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि ऐसे महापुरुष (महात्मा गांधी) के बारे में कोई अभद्र टिप्पणी करें तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। छत्तीसगढ़ पुलिस ने यह कार्रवाई की है। उनके (कालीचरण महाराज) परिवारजनों और वकील को सूचित कर दिया है। 24 घंटे के अंदर उन्हें कोर्ट में प्रस्तुत करेंगे।

कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी को जायज ठहराते हुए छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा है कि सीएम ने कहा कि कोई भी हो गलत काम करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा। एफआईआर हुई और मध्य प्रदेश के खजुराहो से उसे गिरफ़्तार करके रायपुर लाया जा रहा है। उसे कोर्ट में पेश करेंगे और कोर्ट के आदेशानुसार कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें:  गुजरात: चुनावी खेल बिगाड़ रहे बागी बीजेपी नेताओं पर पार्टी का एक्शन, 7 सस्पेंड

बता दें कि रायपुर में आयोजित धर्म संसद में कालीचरण महाराज ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इस मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने कालीचरण महाराज के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसके बाद कालीचरण महाराज फरार हो गया था।

इस बीच छत्तीसगढ़ पुलिस को जानकारी मिली की कालीचरण महाराज मध्य प्रदेश के खजुराहो में छिपा हुआ है। बेहद गोपनीय तरीके से छत्तीसगढ़ पुलिस ने खजुराहो पहुंचकर कालीचरण महाराज को गिरफ्तार कर लिया। कालीचरण पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें