राजस्थान का मामला हल करने के लिए दिल्ली में सोनिया के आवास जुटे कांग्रेस नेता

नई दिल्ली। राजस्थान में कल गहलोत समर्थक विधायकों द्वारा इस्तीफे की पेशकश के बीच विधायक दल की बैठक रद्द होने के बाद इस मामले को हल करने के लिए आज दिल्ली में कई बड़े कांग्रेस नेता बैठक कर रहे हैं।

इस बैठक में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के अलावा संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़के के अलावा राजस्थान के प्रभारी अजय माकन भी मौजूद हैं। यह बैठक कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर चल रही है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव नामांकन तक यथास्थिति बरकरार रहेगी। सार्वजनिक रूप से मुखर रहे नाराज विधायकों को कारण बताओ नोटिस जारी करने पर निर्णय पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट पर अंतरिम प्रमुख द्वारा कार्रवाई के बाद लिया जाएगा।

इससे पहले आज दिल्ली पहुंचे मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से जब कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ने को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अध्यक्ष का चुनाव लड़ने में मेरी रुचि नहीं है… मैं तो नवरात्र के लिए दिल्ली आया हुआ हूं।

गौरतलब है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष बंनने की स्थिति में राजस्थान का मुख्यमंत्री कौन होगा? इस पर चर्चा के लिए रविवार को जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी लेकिन गहलोत समर्थक 92 विधायक बैठक में नहीं बल्कि सीधे विधानसभा अध्यक्ष के आवास पर पहुंचे।

ये भी पढ़ें:  सत्येंद्र जैन का CCTV वीडियो: आप ने बीजेपी को बताया बेशर्म, सिसोदिया ने कही ये बात

गहलोत समर्थक विधायकों ने अपने सामूहिक इस्तीफे देने का एलान करते हुए सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाये जाने का विरोध भी किया। मामला बढ़ते देख कांग्रेस को विधायक दल की बैठक रद्द करनी पड़ी थी।

इसके बाद राजस्थान के प्रभारी अजय माकन के पास दिल्ली से संदेश गया कि मामला हल करने के लिए विधायकों से अलग अलग बात की जाए और कल इस पर रिपोर्ट दी जाए। प्रभारी अजय माकन, मल्लिकार्जुन खड़के दोनों आज दिल्ली पहुंचे हैं और वे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के समक्ष कल जो कुछ हुआ उसका व्यौरा रखेंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें