RTO के शासकीय दस्तावेज का मामला: मजिस्ट्रियल जांच में 15 जून तक पक्ष रखा जा सकेगा

​उज्जैन(विशाल जैन)। कलेक्टर आशीष सिंह ने गत दिनों क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी कार्यालय की शासकीय नस्तियां एवं अन्य शासकीय दस्तावेज हिन्द यातायात एजेन्सी के प्रदीप शर्मा के कार्यस्थल पर पाये जाने के मामले की मजिस्ट्रियल जांच के लिये अपर कलेक्टर अवि प्रसाद को अधिकृत किया है।

​अपर कलेक्टर ने बताया कि उक्त जांच के बिन्दु इस प्रकार हैं- प्रदीप शर्मा की आरटीओ आफिस में भूमिका, शासकीय नस्तियां उनके पास कैसे पहुंची, प्रदीप शर्मा किस हैसियत से शासकीय नस्तियों का संधारण एवं संचालन कर रहे थे, आरटीओ कार्यालय में नस्तियों के संधारण का दायित्व किसका है।

निरीक्षण स्थल से कार्यालय क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी की शासकीय नस्तियां एवं अन्य वैधानिक दस्तावेज पाये जाने पर कार्यालय प्रमुख की भूमिका कितनी है, आदि बिन्दुओं की जांच की जा रही है। उक्त बिन्दुओं पर व्यक्ति विशेष यदि अपना पक्ष रखना चाहते हों तो वे अपर कलेक्टर स्टेनो शाखा में 15 जून की शाम 5 बजे तक अपना पक्ष या अभ्यावेदन प्रस्तुत कर सकते हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ये भी पढ़ें:  Asaduddin Owaisi : वक्फ की संपत्तियों की जांच वाले आदेश पर भड़के ओवैसी
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें