खाद्य आयोग के सदस्य ने उचित मूल्य दुकान का निरीक्षण किया

उज्जैन (विशाल जैन)। खाद्य आयोग के सदस्य किशोर खण्डेलवाल द्वारा शासकीय उचित मूल्य की दुकान करोहन का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान शासकीय उचित मूल्य की दुकान विक्रेता नन्दकिशोर पांचाल द्वारा उपभोक्ताओं को राशन सामग्री का वितरण किया जा रहा था।

निरीक्षण के दौरान सदस्य द्वारा लक्ष्मण पिता धुलजी एएवाय कार्डधारी निवासी करोहन, रामप्रसाद धन्नालाल एएवाय कार्डधारी निवासी करोहन तथा मदनलाल भागीरथ प्राथमिकत परिवार कार्डधारी निवासी करोहन से उचित मूल्य की दुकान से प्राप्त होने वाली निशुल्क राशन सामग्री की मात्रा तथा गुणवत्ता इत्यादी की संबंध में पुछताछ की गई।

उपभोक्ताओं द्वारा सदस्य को निर्धारित मात्रा व निशुल्क राशन सामग्री प्राप्त होना बताया गया। निरीक्षण के दौरान विक्रेता ने बताया नागरिक आपूर्ति निगम उज्जैन द्वारा माह जून व मई हेतु आवंटित नमक प्रदाय नही किया गया एवं नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा एक गेहूं चावल नही भेजने के सबंध में सदस्य को अवगत कराया गया।

खंडेलवाल द्वारा जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम जिला उज्जैन को तत्काल नमक प्रदाय करने एवं गेहूं चावल एक साथ भेजने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने उपभोक्ता रेशमबाई को अन्त्योदय श्रेणी राशनकार्ड बंद होने से राशन सामग्री नही मिल पाने के कारण तत्काल पोर्टल पर श्रेणी सत्यापन करने तथा उन्हें पांच माह की राशन सामग्री प्रदाय करने हेतु विक्रेता को निर्देशित कर राशन सामग्री उपलब्ध कराई गई।

खंडेलवाल द्वारा शासकीय उचित दुकान डेंडिया का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण समय उचित मूल्य की दुकान विक्रेता द्वारा राषन सामग्री वितरण करते हुयें पाया गया। निरीक्षण सदस्य द्वारा भगवन्ता बाई, सुनिता बाई पति रितेश, महेश पिता रामचन्द्र निवासी डेडिया से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना एवं नियमित अन्नपूर्णा योजनान्तर्गत प्रदाय किये जा रहे निषुल्क राशन सामग्री प्राप्त होने के संबंध में पुछताछ की गई।

ये भी पढ़ें:  उप्र : भदोही दुर्गा पूजा पंडाल आग : मृतक संख्या बढ़कर पांच हुई, आयोजकों के खिलाफ मामला दर्ज

उपभोक्ताओं द्वारा सदस्य को निर्धारित मात्रा अनुसार निशुल्क राशन सामग्री प्राप्त होना बताई गई। सदस्य द्वारा उचित मूल्य की दुकान विक्रेता को दुकान पर निरीक्षण पुस्तिका रखने तथा आवशयक सूचना पटल प्रदर्षित करने हेतु निर्देषित किया गया। जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम उज्जैन को स्व सहायता समूह को शासन द्वारा निर्धारित राशि अनुसार कमीषन भुगतान करने हेतु निर्देषित किया गया।

इसके बाद उपभोक्ता भण्डार द्वारा संचालित शासकीय उचित मूल्य की दुकान क्रमांक 1807126 उज्जैन का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण दौरान विक्रेता द्वारा एप्रिन नही पहनना पाया गया। सदस्य द्वारा दुकान से वितरित किये जा रहे है राशन की गुणवत्ता की जांच की गई। उचित मूल्य की दुकान की विस्तृत जांच करने के निर्देश दिये गये है।

सदस्य द्वारा श्रीराम प्राथमिक उपभोक्ता भण्डार द्वारा संचालित शासकीय उचित मूल्य की दुकान क्रमांक 1807085 बसंत विहार का निरीक्षण उपभोक्ताओं निशुल्क राशन सामग्री के संबंध में पुछताछ की गई। उपभोक्ताओं द्वारा निर्धारित मात्रा अनुसार निषुल्क राशन सामग्री प्राप्त होना बताया गया। दुकान पर आवश्यक सूचना पटल दुकान के बाहर प्रदर्शित करने के लिये विक्रेता को निर्देषित किया गया।

प्रदाय केन्द्र चिमनगंज मण्डी का भी निरीक्षण किया गया। जिसमें केन्द्र पर भण्डारित चावल, नमक, शक्कर की गुणवत्ता अच्छी पाई गई एवं अन्य जिलो से प्राप्त चावल के बोरे कटे-फटे होने पर सदस्य द्वारा जिला प्रबंधक को उच्च स्तर पर स्थिति से अवगत कराने एवं प्रदाय केन्द्र से खाद्यान्न सामग्री भेजने के पूर्व स्टेक चयन के साथ खाद्यान्न की गुणवत्ता का एनालिसिस करने के लिये कहा।

ये भी पढ़ें:  यूपी : सीतापुर में छात्र ने प्रिंसिपल पर बैक टू बैक गोली दागी, जानें क्या है मामला?

प्रदाय केन्द्र पर शक्कर 50 किलोग्राम की भरती के स्थान पर 25 या 30 किलो के बोरे में भरती करने सुझाव उच्च स्तर पर भेजने के निर्देश दिये। सदस्य द्वारा प्रदाय केन्द्र पर अंकुर कार्यक्रम अन्तर्गत एक नीम का वृक्ष भी लगाया गया।

खाद्य आयोग के सदस्य द्वारा खाद्य, सहकारिता नान वेयर हाउस के जिला अधिकारियों के साथा विक्रेता संघ शहर के साथ उनकी समस्याओं को सुना गया एवं भण्डारों का पीएमजीकेएवाय का कमीशन, स्व-सहायता समूहो का एरियर कमीशन का लंबित भुगतान 30 जून के पूर्व करने के निर्देष दिये गये तथा प्रतिमाह सामग्री एक साथ समयसीमा में पहुचाने एवं विगत एक वर्ष से सामग्री विलंब से पहुचाने पर संबंधित परिवहनकर्ता पर अनुबंध शर्तो अनुसार पैनाल्टी एवं ब्लैकलिस्टेड करने की कार्यवाही हेतु जिला प्रबंधक को निर्देष दिये गये।

उपायुक्त सहकारिता को प्रत्येक दुकान के लिये प्रथक विक्रेता रखने एवं तुलावटी, दुकानों पर आवष्यक सूचना बोर्ड, साफ-सफाई रंग रोगन इत्यादि आवष्यक व्यय का भुगतान संस्था को प्राप्त कमीषन में से संबंधित संस्था प्रबंधक द्वारा करने हेतु निर्देषित किया गया। खाद्य आयोग के सदस्य के भ्रमण निरीक्षण में उनके द्वारा दिये गये निर्देषो का प्रभावी कार्यवाही करने एवं पालन प्रतिवेदन 15 दिवस में प्रस्तुत करने कलेक्टर महोदय द्वारा सभी विभाग प्रमुखो को निर्देष दिये गये।

निरीक्षण के दौरान मोहन मारू जिला आपूर्ति नियंत्रक जिला उज्जैन, एस.आर. बरडे सहायक आपूर्ति अधिकारी उज्जैन, एन.एस.मुवेल, रविन्द्रसिंह सेंगर कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी उज्जैन ग्रामीण तथा पोरवाल जिला प्रबंधक नान पोरवाल, जिला प्रबंधक वेयर हाउस मनीष वर्मा उपस्थित रहे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें