साहिबगंज में जहर खाकर एक नाबालिग नवदंपती ने दी जान

Jharkhand : एक-दूसरे के साथ जीने-मरने की कसम खाने के बाद विवाह के महज तीन माह के अंदर ही राजमहल स्थित बर्मन कॉलोनी निवासी पति-पत्नी ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली. सोमवार की देर रात बर्मन कॉलोनी निवासी नितेश महतो (17)-पिता विजय महतो और उसकी पत्नी चंपा कुमारी (16) ने जहरीला पदार्थ खा लिया. इसके बाद रात करीब 1:30 बजे अचेतावस्था में दोनों को अनुमंडल अस्पताल में भर्ती कराया गया. दोनों की स्थिति बिगड़ने पर चिकित्सकों ने उनका इलाज शुरू किया. लेकिन इलाज के दौरान नितेश ने दम तोड़ दिया. इसके बाद चंपा को सदर अस्पताल रेफर किया गया. आनन-फानन में परिजन उसे साहिबगंज ले गये, जहां इलाज के क्रम में उसने भी दम तोड़ दिया.
शादी के बाद चंपा ससुराल में रह रही थी

परिजनों की मानें, तो मंदिर में शादी के बाद बीते तीन माह से लड़की ससुराल में रह रही थी. कुछ दिनों पूर्व चंपा कुमारी मायके मधुसूदन कॉलोनी आयी थी. वापस ससुराल आने के बाद विवाद चल रहा था. परिजनों ने बताया कि पति-पत्नी में सोमवार की शाम भी किसी बात को लेकर विवाद होने पर दोनों ने जहर खाने का प्रयास किया. परिजनों ने दोनों को समझाया और विषाक्त पदार्थ फेंक दिया

ये भी पढ़ें:  Assam : अपने 'मृत्यु प्रमाण पत्र' खोने का व्यक्ति ने विज्ञापन किया जारी

दोनों ने जहरीला पदार्थ खाकर दी जान

लड़के के पिता ने बताया कि बीती रात एक बजे बेटे-बहू के कमरे का दरवाजा खुला था. वह अनहोनी की आशंका से कमरे में दाखिल हुए, तो देखा कि दोनों बिस्तर पर अचेतावस्था में पड़े थे. आशंका जतायी जा रही है कि दोनों ने जहरीला पदार्थ का सेवन कर लिया होगा. शव को पुलिस ने कब्जे में ले लिया. युवक के शव का पोस्टमार्टम राजमहल अनुमंडलीय अस्पताल में करीब तीन बजे हुआ, वहीं चंपा के शव का पोस्टमार्टम साहिबगंज स्थित सदर अस्पताल में किया गया.
पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद होगी कार्रवाई

वहीं, राजमहल थाना प्रभारी प्रणीत पटेल ने कहा कि नाबालिग नवदंपती ने किन परिस्थितियों में आत्महत्या की है. इसकी पड़ताल की जा रही है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई का जाएगी

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें