बंगाल के बाद त्रिपुरा बीजेपी में खलबली, कई नेता दलबदल की तैयारी में

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय के तृणमूल कांग्रेस में घर वापसी के साथ ही पश्चिम बंगाल भारतीय जनता पार्टी में कई विधायक और बीजेपी नेता तृणमूल कांग्रेस में वापसी की तैयारी कर रहे हैं।

वहीँ दूसरी तरफ त्रिपुरा में भी भारतीय जनता पार्टी के लिए अच्छी खबर नहीं हैं। यहां कई बीजेपी नेता मुकुल रॉय के संपर्क में आ चुके हैं और कभी भी वे तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

बीजेपी सूत्रों के मुताबिक, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव की कार्यशैली से नाराज़ बीजेपी नेताओं का एक गुट पिछले काफी समय से पार्टी नेतृत्व को प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहा है। पार्टी हाईकमान की तरफ से सकारात्मक रुख न दिखाए जाने से नाराज़ कई बीजेपी नेता जल्द ही पार्टी को अलविदा कहने की तैयारी कर चुके हैं।

इस बीच पार्टी हाईकमान को बगावत की आशंकाओं की खबर मिलने के बाद संगठन के राष्ट्रीय महासचिव बी. एल. संतोष, पूर्वोत्तर क्षेत्र के प्रभारी महासचिव अजय जामवाल और केंद्रीय पर्यवेक्षक फणींद्र नाथ शर्मा बुधवार को राज्य के नेताओं, विधायकों, मंत्रियों और पार्टी के अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के लिए दो दिवसीय यात्रा पर अगरतला पहुंचे।

ये भी पढ़ें:  Live: राजस्थान में कांग्रेस विधायक दल की बैठक निरस्त

वहीँ सूत्रों की माने तो त्रिपुरा के कई बीजेपी विधायक तृणमूल कांग्रेस में मुकुल रॉय के साथ शामिल हुए उनके बेटे सुभ्रांशु रॉय के संपर्क में हैं। तृणमूल कांग्रेस में वापसी के साथ रॉय और उनके बीटा सुभ्रांशु रॉय ने बीजेपी में सेंधमारी शुरू कर दी है और जल्द ही इसके परिणाम सामने आने की संभावना है।

बिहार में भी उठापटक की खबरें:

वहीँ लोकजनशक्ति पार्टी के पांच सांसदों द्वारा पार्टी से बगावत कर अलग गुट बनाये जाने के बाद लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के बीच बातचीत हुई है। सूत्रों ने कहा कि जल्द ही आधिकारिक तौर पर दोनों नेताओं के बीच बातचीत हो सकती है। यदि ऐसा हुआ तो बिहार की राजनीतिक तस्वीर में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें