जेडीयू के बाद अब इस पार्टी ने बीजेपी से यूपी में मांगी सीटें

नई दिल्ली। एनडीए के सहयोगी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया ने अगले साल होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में सीटों की मांग की है। रिपब्लिकन पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से यह मांग की है।

अठावले ने कहा कि मैनें भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी. नड्डा से बात की। फरवरी 2022 में आने वाले उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर के चुनावों में ,उत्तर प्रदेश में रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया को 8-10 सीटें मिलनी चाहिए और बाकी राज्यों में 1-2 सीटें मिलनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आरपीआई) का जनाधार हर राज्य में है। जे. पी. नड्डा ने बताया कि आपके प्रस्ताव पर विचार किया जाएगा। हमने उनको बताया कि बहुजन समाज पार्टी का वोट काटने से भाजपा को फायदा होगा। दलित वोटों पर आरपीआई का भी अधिकार है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए रामदास अठावले ने कहा कि AIMIM 100 सीटों पर लड़ रहा है तो मेरा निवेदन है कि उन्हें 200 सीटों पर लड़ना चाहिए। AIMIM के लड़ने से भाजपा और एनडीए का नुकसान नहीं है।

ये भी पढ़ें:  अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री रहेंगे या नहीं? 1-2 दिन में फैसला लेंगी सोनिया गांधी

जनता दल यूनाइटेड भी कर रहा यूपी में चुनाव लड़ने की तैयारी:

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं। उत्तर प्रदेश को लेकर सोमवार को ही एनडीए के सहयोगी जनता दल यूनाइटेड ने भी बड़ा एलान किया है। पार्टी के नेता उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में जदयू 200 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा है।

हालांकि कुशवाहा ने यह भी कहा कि हम चाहते हैं कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी से जदयू के लिए सीटें छोड़े लेकिन अगर यह संभव नहीं हुआ तो उत्तर प्रदेश में जदयू 200 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगा।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें