टिकैत का गंभीर आरोप: सिर फोड़ने का आदेश देने वाला एसडीएम आरएसएस से जुड़ा है

नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने करनाल में किसानो पर लाठीचार्ज का आदेश देने वाले एसडीएम पर गंभीर आरोप लगाए हैं। गाज़ियाबाद में किसान महापंचायत में भाग लेने आये राकेश टिकैत ने कहा कि किसानो के सिर फोड़ने का ऑर्डर देने वाला एसडीएम और उसका परिवार आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ) से जुड़ा है।

उन्होंने कहा, ‘अधिकारी होने के बाद भी आदेश दे रहा है कि सिर फूटे बिना कोई नहीं जाना चाहिए।उसका परिवार और वो RSS से जुड़े हैं। जानबूझकर किसानों का सिर फोड़ा गया, हड्डियां तोड़ी गईं।’

इससे पहले रविवार को मेवात के नूंह में आयोजित किसान पंचायत को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने हरियाणा सरकार पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि अफसर किसानो को खालिस्तानी बोल रहे लेकिन सरकार खुद तालिबानी है।

वहीँ करनाल में किसानो पर हुए लाठीचार्ज को लेकर हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने सफाई दी है। करनाल एसडीएम के वायरल वीडियो पर हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अधिकारी के खिलाफ जरूर एक्शन लिया जाएगा। चौटाला ने कहा कि एक आईएएस अधिकारी द्वारा किसानों के लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल निंदनीय है। निश्चित तौर पर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें:  PFI के खिलाफ कार्रवाही पर बोले दिग्विजय: विहिप, RSS पर कार्रवाही क्यों नहीं?

चौटाला ने एसडीएम द्वारा दिए गए स्पष्टीकरण का ज़िक्र करते हुए कहा कि करनाल एसडीएम आयुष सिन्हा ने कहा कि वह पिछले दो दिनों में सोए नहीं हैं। वह शायद यह नहीं जानते कि किसान भी साल में 200 दिन सोते नहीं हैं।

वहीं, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने करनाल में प्रदर्शनकारी किसानों के ऊपर की गई पुलिस की कार्रवाई का बचाव करते हुए कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन का आश्वासन दिया गया था लेकिन पुलिसकर्मियों पर पथराव किया गया और एक राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया गया।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें