पप्पू यादव को दरभंगा के DMCH में किया गया शिफ्ट

पटना ब्यूरो। 32 वर्ष पुराने एक मामले में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजे गए जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव को बीरपुर उप कारा से दरभंगा के DMCH अस्पताल भेजा गया है।

11 मई को गिरफ्तार किया गया था और सुपौल जिले के बीरपुर उपकारा में न्यायिक हिरासत में रखा गया था। पप्पू यादव की स्वास्थ्य समस्या को देखते हुए बुधवार को उनके स्वास्थ्य की जांच के लिए मेडिकल टीम गठित की गई थी। टीम की रिपोर्ट में कहा गया है कि पप्पू यादव को इलाज के लिए उच्च उपचार केंद्र में भेजने की आवश्यकता है जिसके बाद उन्हें DMCH शिफ्ट किया गया है।

गौरतलब है कि गिरफ्तारी के बाद ही पप्पू यादव अपनी बामारियों का हवाला देते हुए बेहतर चिकित्सा सुविधा की मांग करते हुए भूख हड़ताल पर बैठ गये थे और प्रशासनिक पहल पर बुधवार की संध्या उन्होंने भूख हड़ताल समाप्त कर दी थी।

दरभंगा पहुंचने पर मीडियाकर्मियों से बात करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि उनके किडनी में और पीठ में भी दर्द है और उन्होंने कुछ दिन पहले ही गॉल ब्लडर का ऑपरेशन करवाया था। उन्होंने कहा कि जिस मामले में उन्हें गिरफ्तार किया गया वह सही नहीं है। पूर्व सांसद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह किया कि कोरोना वायरस काल में वे इन्हें लोगों की सेवा करने दें।

ये भी पढ़ें:  PFI : एनआईए का दावा, 'युवाओं को भड़काकर आतंकी समूहों में भर्ती कराने की थी कोशिश', जानिए पूरी सच्चाई

पप्पू यादव के ट्विटर हैंडलर से भी एक ट्वीट किया गया है। जिसमे कहा गया है कि “कल मुझे बेहतर उपचार के नाम पर वीरपुर जेल से DMCH दरभंगा लाया गया। वहां जांच की भी व्यवस्था नहीं है तो निजी अस्पताल पारस हॉस्पिटल लाया गया। आखिर यह कौन-सा खेल चल रहा है? मधेपुरा में 800 करोड़ में मेडिकल कॉलेज अस्पताल बना, क्या वहां भी सुविधा नहीं थी, जो मौत का कुंआ DMCH भेज दिया।”

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें