महाराष्ट्र सरकार ने अभिभावकों को दी बड़ी राहत, स्कूल फीस में 15% कटौती करने के आदेश

मुंबई। महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार ने बच्चो के अभिभावकों को बड़ी राहत देते हुए स्कूल फीस में 15 फीसदी कटौती किये जाने के आदेश जारी किये हैं।

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार की तरफ से 12 अगस्त को जारी एक आधिकारिक नोटिस में कहा गया है कि कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए स्कूलों को अब 2021-22 सत्र के लिए फीस में 15 फीसदी शुल्क कटौती कर अभिभावकों को रिफंड दिया जाए।

सरकार के आदेश के मुताबिक, सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को अतिरिक्त शुल्क या स्कूलों द्वारा एकत्र की गई राशि वापस करने के लिए कहा गया है। सरकार के आदेश के बाद अब स्कूलों को यह राशि या तो अगले महीने या किश्तों में वापिस करनी होगी।

सरकार के आदेशों के अनुसार यह कार्रवाई इसलिए की गई है क्योंकि यह माना जाता है कि वार्षिक स्कूल शुल्क का कम से कम 15 फीसदी ओवरहेड खर्च के लिए है।

सरकार ने यह भी कहा है कि यह धारणा स्कूल प्रबंधन द्वारा वास्तविक बचत की तुलना में उच्च स्तर पर बनाई जा रही है। आदेश में निजी गैर सहायता प्राप्त स्कूलों के स्कूल प्रबंधन द्वारा इस बचत का विशेष रूप से उल्लेख किया गया है। इस फैसले के लिए सभी पहलुओं को ध्यान में रखा गया है।

ये भी पढ़ें:  Lucknow : मुंडन कराने जा रहे ट्रैक्टर-ट्रॉली को ट्रक ने मारी टक्कर, 10 लोगों की मौत

सरकार के मुताबिक, कोरोना काल में स्कूल बंद होने के कारण छात्रों ने ओवरहेड खर्च के तहत आने वाली उन सुविधाओं का लाभ नहीं उठाया है, जो उन्हें स्कूल से मिलनी चाहिए थीं। इसलिए अभी स्कूलों (सरकारी और निजी) 2021-22 सत्र के लिए फीस में 15 फीसदी शुल्क कटौती कर अभिभावकों को रिफंड देने की व्यवस्था पर अमल करें।

उद्धव ठाकरे सरकार के इस आदेश से अभिभावकों को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद जागी है। पिछले दिनों कई मीडिया खबरों में सामने आया था कि कोरोना काल के दौरान स्कूल बंद होने के बावजूद निजी स्कूल अभिभावकों पर पूरी फीस भरने के लिए दबाव बना रहे थे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें