उद्धव की शिवसेना पर शरद पवार की मुहर, बताया असली शिवसेना

मुंबई। महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना से एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में अलग हुए विधायकों के गुट को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने ख़ारिज कर दिया है। एनसीपी ने उद्धव ठाकरे के गुट को असली शिवसेना बताया है। हालांकि असली शिवसेना का मामला आयोग के समक्ष विचारणीय है।

इस बार दशहरा पर शिवसेना के दोनों गुटों द्वारा रैली का आयोजन किये जाने को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने कहा कि असली शिवसेना पार्टी के संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे के विचारों को लेकर चलती है, जो उद्धव ठाकरे की शिवसेना हैं।

एनसीपी के प्रवक्ता महेश तापसे ने कहा कि असली शिवसेना वह है जिसके पास बालासाहेब (ठाकरे) के विचार हैं, जिसका अर्थ है कि यह उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना है। उन्होंने कहा कि हालांकि शिवसेना को लेकर फैसला चुनाव आयोग को करना है कि वह किसे मान्यता देता है।

उन्होंने कहा कि इस साल दो दशहरा रैलियां होंगी। एक परंपरा, निष्ठा, स्वाभिमान और बालासाहेब (ठाकरे) के विचारों की है, जिसका मतलब उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में है।

गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना की तर्ज पर इस पर एकनाथ शिंदे गुट भी दशहरा पर रैली का आयोजन कर रहा है। उद्धव ठाकरे की रैली शिवाजी पार्क में होगी जबकि एकनाथ शिंदे गुट ने बांद्रा में रैली का आयोजन किया है।

ये भी पढ़ें:  अमेरिका से आये दंपति ने बिहार के दिव्यांग बच्चे को गोद लिया

इससे पहले शिवाजी पार्क में रैली को लेकर भी दोनों गुट आमने सामने आ गए थे। दोनों ही गुटों ने बीएमसी से दशहरा के दिन शिवाजी पार्क में रैली के आयोजन की अनुमति के लिए आवदेन किया था। इस पर बीएमसी ने दोनों गुटों को अनुमति देने से इंकार कर दिया था। बीएमसी के फैसले के खिलाफ उद्धव गुट ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और हाईकोर्ट ने उद्धव ठाकरे गुट को शिवाजी पार्क में रैली के आयोजन की अनुमति दे दी है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें