देवीलाल की जयंती के बहाने जुटे विपक्ष के नेता, 2024 में बीजेपी को सत्ता से बाहर करने का संकल्प

फतेहाबाद। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी देवीलाल की 109 वीं जयंती के अवसर पर फतेहाबाद में विपक्ष के कई बड़े नेताओं ने शिरकत की। इस अवसर पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्ष के नेताओं ने बीजेपी पर कड़े प्रहार किये।

इस कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी शामिल हुए और दोनों नेतों ने अपने भाषणों में बीजेपी पर जमकर हमला बोला।

जनसभा को संबोधित करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि पिछले चुनावों के दौरान, वे (भाजपा) हमारे उम्मीदवारों को हराने की कोशिश कर रहे थे। मैं मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहता था लेकिन उन्होंने(भाजपा) मुझे जबरदस्ती बनाया।

बीजेपी पर अपने हमले जारी रखते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र ने पिछड़े राज्य के लिए जो वादा किया था, वो नहीं हुआ इसलिए हम उनसे अलग हो गए। बिहार में आज 7 पार्टियां एक साथ काम कर रही हैं। उनके पास 2024 का चुनाव जीतने का कोई मौका नहीं है।

नीतीश कुमार ने सुझाव दिया कि कांग्रेस और वाम दलों के बिना एक विपक्षी मोर्चे की परिकल्पना नहीं की जा सकती है, और एक मजबूत कांग्रेस विरोधी इतिहास वाले कुछ नेताओं सहित, एक बड़ी एकता के लिए काम करने के लिए मंच पर नेताओं से आग्रह किया।

ये भी पढ़ें:  सावरकर पर राहुल की टिप्पणी से बीजेपी तिलमिलाई, गहलोत-बघेल ने किया पलटवार

बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि आज देश की जो स्थिति बनी हुई है वो किसी से छुपी नहीं है। वो(भाजपा) लोग चाहते हैं कि इस देश का सब कुछ समाप्त हो जाए, केवल भाजपा, संघ और उनके कुछ साथी रह जाए।

उन्होंने कहा कि आज हम उन किसानों को धन्यवाद देते हैं जिनके बेटे जवान(फौजी) हैं क्योंकि जवानों ने देश को बचाने का काम किया है। मैं आप लोगों का धन्यवाद करने आया हूं कि किसानों ने किसान आंदोलन कर संघियों को अच्छे से सबक सिखाने का काम किया।

इस अवसर पर इनेलो नेता ओम प्रकाश चौटाला, शिरोमणि अकाली दल के सुखबीर सिंह बादल, एनसीपी के शरद पवार, सीपीआई (एम) के सीताराम येचुरी और शिवसेना के अरविंद सावंत मौजूद थे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें