लखीमपुर खीरी हिंसा: सुप्रीमकोर्ट ने लिया स्वतः संज्ञान, कल होगी सुनवाई

नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीमकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए इस मामले में कल से सुनवाई शुरू करने का फैसला लिया है। सुप्रीमकोर्ट में चीफ जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस सूर्य कांत और हीमा कोहली की बेंच कल इस मामले पर सुनवाई करेगी।

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी में रविवार को किसानो के विरोध प्रदर्शन के दौरान कथित तौर पर जीप से रौंदे जाने और उसके बाद हुई हिंसा में 4 किसानो सहित कुल 9 लोगों की मौत हो गई थी।

इस मामले में दर्ज एफआईआर में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा तथा अन्य 14 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इसमें केंद्रीय गृहमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को मुख्य आरोपी बताया गया है।

हालांकि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टैनी ने प्रेस कांफ्रेंस में दावा किया कि उनका बेटा जीप नहीं चला रहा था और वह घटना स्थल पर मौजूद नहीं था। उन्होंने आपने बेटे को निर्दोष करार दिया है।

वहीँ उत्तर प्रदेश सरकार ने इस मामले की जांच हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज से कराये जाने का एलान किया है। वहीँ विपक्ष की मांग है कि जांच रिटायर्ड जज से नहीं बल्कि सिटिंग जज से कराई जाए।

ये भी पढ़ें:  कुतुब मीनार को अपना बताने वाले कुंवर महेंद्रध्वज को कोर्ट से झटका, याचिका खारिज

इस बीच पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सहित कांग्रेस का 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमडंल अब से थोड़ी देर पहले लखीमपुर खीरी पहुंच गया है। इस प्रतिनिधिमंडल में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी तथा दीपेंद्र हुड्डा भी शामिल हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें