यूपी में बढ़ेंगी बीजेपी की मुश्किलें, जेडीयू कर रहा 200 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। एनडीए के सहयोगी जनता दल यूनाइटेड उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 200 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करने की तैयारी कर रहा है।

जनता दल यूनाइटेड के नेता उपेंद्र कुशवाहा ने पुष्टि की है कि जनता दल यूनाइटेड उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार खड़े करेगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए जेडीयू अभी से जोरों से तैयारी में जुटी हुई है।

कुशवाहा ने कहा कि यूपी में जेडीयू 200 सीटों में चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है। उन्होंने कहा कि जदयू के यूपी प्रभारी के सी त्यागी को इसके लिए रणनीति तैयार करने के लिए कह दिया गया है।

उपेंद्र कुशवाहा के अनुसार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा और अन्य दलों से समझौते का रास्ता पार्टी ने खोल रखा है। अभी इस बारे में जेडीयू की तरफ से कुछ भी नहीं कहा गया है कि वह यूपी में बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव मैदान में उतरेगी या फिर अकेले।

ये भी पढ़ें:  Kanpur : 'सिंदूर सजा बन गया..., 17 महीने शव के साथ रहने वाली मिताली ने बयां किया दर्द, जी भर के रो भी न सकी

वहीँ जानकारों की माने तो उत्तर प्रदेश के विधानसभा में यदि भारतीय जनता पार्टी अपने सहयोगी दल जनता दल यूनाइटेड के लिए गठबंधन में सीटें नहीं छोड़ती और जेडीयू अकेले दम पर चुनाव लड़ता है तो पूर्वांचल की करीब 50 सीटों पर बीजेपी के लिए मुश्किल खड़ी हो सकती है। इतना ही नहीं वाराणसी, भदोई जैसे जिलों में जनता दल यूनाइटेड बीजेपी के लिए चुनौती पेश कर सकता है।

गौरतलब है कि बिहार में जनता दल यूनाइटेड और बीजेपी की साझा सरकार है। पिछले विधानसभा चुनाव में जनता दल यूनाइटेड की सीटें बीजेपी से कम होने के बावजूद मुख्यमंत्री का पद जनता दल यूनाइटेड के पास रहा है। ऐसे में देखना है कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में क्या भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड के बीच किसी तरह का चुनाव गठबंधन होता है अथवा नहीं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें