मुंह में राम, बगल में छुरी जैसा है संघ प्रमुख का बयान: मायावती

लख्नऊ। संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर शुरू हुए सियासी घमासान के बीच बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने मोहन भागवत के बयान को ‘गले ना उतरने वाला’ करार दिया।

इतना ही नहीं मायावती ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर सवाल उठाते हुए कहा कि संघ द्वारा भाजपा को आंख बंद करके समर्थन दिए जाने की वजह से देश में सांप्रदायिकता का जहर फैल गया है।

मंगलवार को बसपा सुप्रीमो ने कहा कि संघ प्रमुख का बयान ‘मुंह में राम, बगल में छुरी’ की तरह है। उन्होंने कहा, ‘‘भागवत देश की राजनीति को विभाजनकारी बताकर कोस रहे हैं, वह ठीक नहीं है।

मायावती ने कहा कि सच्चाई तो यह है कि जिस भाजपा और उसकी सरकारों को वह आंख बंद करके समर्थन देते चले आ रहे हैं, उसी का परिणाम है कि जातिवाद, राजनीतिक द्वेष और सांप्रदायिक हिंसा का जहर सामान्य जनजीवन को त्रस्त कर रहा है।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि संघ प्रमुख ने गाजियाबाद में अपने बयान में बड़ी-बड़ी बातें तो कही हैं, मगर यह भी सही है कि संघ के सहयोग और समर्थन के बिना भाजपा का अस्तित्व कुछ भी नहीं है, फिर भी संघ अपनी कही गई बातों को भाजपा तथा उसकी सरकारों से लागू क्यों नहीं करवा पा रहा है।

ये भी पढ़ें:  अमित शाह : BJP को कितना खतरा विपक्षी एकजुटता से अमित शाह ने बताया, इसे बताया प्रधानमंत्री उम्मीदवार

गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को गाजियाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा था कि भारत में भले ही अलग-अलग धर्मों को मानने वाले लोग रहते हैं लेकिन उन सभी का डीएनए एक ही है। उन्होंने यह भी कहा था कि जो लोग हिंदुत्व के नाम पर ‘मॉब लिंचिंग’ कर रहे हैं वे हिंदू नहीं हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें