वैक्सीन की कमी पर बिफरे सिसोदिया, कहा ‘राज्यों की वैक्सीन विदेशों को बेच रही केंद्र सरकार’

नई दिल्ली। दिल्ली में मांग के अनुसार केंद्र सरकार से वैक्सीन न मिल पाने को लेकर आज दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्र पर सीधा हमला बोला। सिसोदिया ने कहा कि अपने देश के लोगों को नज़रअंदाज कर केंद्र ने दूसरे देशो को वैक्सीन भेज दी।

उन्होंने कहा कि केंद्र ने भारत की वैक्सीन बांग्लादेश, अरब देश, अफगानिस्तान को बेच दी। केंद्र बताएं कि उसने किस लालच में इन देशों को वैक्सीन बेची। ये साढ़े 6 करोड़ वैक्सीन हमारे लोगों को लगती तो आज लाखों लोगों की जान बचती।

सिसोदिया ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि BJP ने दिल्ली सरकार पर झूठा आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार ने केवल साढ़े पांच लाख वैक्सीन के ऑर्डर दिए हैं। दिल्ली सरकार ने 1,34,00,000 वैक्सीन के ऑर्डर दिए थे। केंद्र सरकार ने कहा कि दिल्ली को मई महीने में केवल 3,50,000 वैक्सीन ही मिल पाएंगी।

सिसोदिया का बयान भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा के उस बयान पर आया है जिसमे उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस कर दिल्ली सरकार पर कई आरोप लगाए थे। पात्रा ने कहा कि 26 अप्रैल को प्रेस कांफ्रेंस करके अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम 1 करोड़ 34 लाख वैक्सीन का ऑर्डर देने वाले हैं और हमने ये मंजूरी दे दी है। आज वे कह रहे हैं हमारे पास कुछ नहीं है। सिसोदिया जी उसके बाद प्रेस कांफ्रेंस करके कहते हैं कि हमने ऑर्डर नहीं दिया है।

ये भी पढ़ें:  Assam : अपने 'मृत्यु प्रमाण पत्र' खोने का व्यक्ति ने विज्ञापन किया जारी

पात्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विज्ञापन पर 804.93 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। 7 सालों में जब से वे मुख्यमंत्री हैं उन्होंने दिल्ली में एक भी अस्पताल नहीं खोला है।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमित मामलो की बढ़ती रफ्तार के बीच कई राज्यों को मांग के मुताबिक वैक्सीन नहीं मिल पाई हैं। वैक्सीन उपलब्ध न होने के कारण पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र सहित कई राज्यों में 18 से 45 वर्ष के लोगों के लिए वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू नहीं हो सका है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें