कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: सबसे बड़े दावेदार के तौर पर दिग्विजय सिंह की एंट्री

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए अब मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का नाम सामने आया है। दिग्विजय सिंह की एंट्री को अध्यक्ष पद के सबसे दमदार उम्मीदवार के तौर पर देखा जा रहा है।

सूत्रों की माने तो राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के तीखे तेवरों को देखते हुए दिग्विजय सिंह मैदान में उतरे हैं। वहीँ कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने का एलान करने वाले अशोक गहलोत ने अभी तक नामांकन पत्र भी नहीं लिया है।

इस बीच खबर है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज रात में जयपुर से दिल्ली के लिये रवाना हुए हैं। देखना है कि अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए गहलोत कल नामांकन दाखिल करते हैं अथवा नहीं। यदि अशोक गहलोत अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए कल नामांकन नहीं करते तो मुकाबला शशि थरूर और दिग्विजय सिंह के बीच होगा।

हालांकि सूत्रों का कहना है कि यदि अशोक गहलोत चुनाव लड़ने से यूटर्न लेते हैं तो अध्यक्ष पद का चुनाव निर्विरोध संपन्न होना तय है। दिग्विजय सिंह के मैदान में आने के बाद शशि थरूर अपना नामांकन वापस ले सकते हैं।

दिग्विजय सिंह भी गांधी परिवार के बेहद करीबियों में से एक बताये जाते हैं। उनके पास राष्ट्रीय और राज्य स्तर दोनों तरह की राजनीति का अनुभव है। वे दो बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहने के अलावा केंद्र सरकार में भी मंत्री रहे हैं। इतना ही नहीं दिग्विजय सिंह ने पार्टी के महासचिव के तौर पर कई राज्यों में प्रभारी के तौर पर पार्टी को अपनी सेवाएं दी हैं।

ये भी पढ़ें:  भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने पर शिवराज सरकार ने शिक्षक को किया निलंबित

दिग्विजय सिंह उन निडर नेताओं में से एक हैं जो संघ और बीजेपी से सीधा लड़ाई लड़ते हैं। इतना ही नहीं दिग्विजय सिंह का नाम उन नेताओं में आता है जिन्होंने विपक्ष में रहते हुए भी कभी सत्ता के साथ समझौता नहीं किया।

फिलहाल देखना है कि पार्टी के अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन के अंतिम दिन 30 सितंबर तक कितने और नामांकन पत्र दाखिल किये जाते। नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तिथि 8 अक्टूबर है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें