FIR के बदले FIR, कांग्रेस ने शिवराज के खिलाफ दी पुलिस में शिकायत

भोपाल। कोरोना को लेकर दिए गए बयान पर दर्ज की गई एफआईआर पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा ने प्रदेश सरकार पर पलटवार किया है। आरोप है कि कमलनाथ ने कोरोना के नए वेरिएंट को ‘इंडियन कोरोना’ बताया था। कमलनाथ के बयान पर भोपाल क्राइम ब्रांच ने रविवार को कमलनाथ के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है।

कमलनाथ ने कहा कि वो राज्य की जनता के प्रति जवाबदेह हैं और जनता के हितों के लिए लड़ते रहेंगे। उन्होंने सीएम शिवराज सिंह के सवाल के जवाब में कहा कि इस संकट की घड़ी में मैंने तो सरकार का सहयोग किया था, लेकिन जनता के प्रति भी मेरी जवाबदेही है। उन्होंने कहा कि वो झूठे आरोपों की परवाह नहीं करते और न ही किसी FIR से डरने वाले हैं।

मध्य प्रदेश कांग्रेस की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कमलनाथ ने कहा है कि इस संकटकाल की स्थिति में आंकड़े दबाए और छुपाए जाएं, ये सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार बीते तीन महीनों के दौरान कोरोना से जितनी मौते हुई हैं उसके डाटा का सार्वजनिक करे।

ये भी पढ़ें:  बिहार : ब्लड प्रेसर की नकली दवा के कारोबार का खुलासा बिहार से उड़ीसा तक, आप भी रहें सतर्क

कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सिंह ने उन पर ‘भारतीय कोरोना’ शब्द का झूठा आरोप लगाया है, जबकि अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों और कई देशों के मुख्यों के द्वारा दिए गए बयान के आधार पर ही उन्होंने कहा था। कमलनाथ ने कहा कि अगर वो देश के लोगों को सही बात बता रहे हैं तो इसमें गलत क्या है।

वहीँ इससे पहले रविवार को कमलनाथ के बयान पर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि क्या ऐसे बयानों से देश के सम्मान को चोट नहीं पहुंचेगी और क्या यह बयान राष्ट्रद्रोह जैसा नहीं है?

उन्होंने कहा कि हम प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण को दिन-रात नियंत्रित करने में लगे हुए हैं और मुझे आशा थी कि राष्ट्रीय संकट में सभी राजनैतिक दल एक होंगे लेकिन मुझे कहते हुए बेहद तकलीफ है कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी देश और प्रदेश का मनोबल तोड़ने का काम कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने पहुंची कांग्रेस :

वहीँ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज किये जाने पर कांग्रेस ने कड़े तेवर दिखाते हुए मुख्यमंत्री शिवराज के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए पुलिस में शिकायत दी है।

भोपाल में कांग्रेस के प्रतिनिधि दल ने भोपाल क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचकर सीएम शिवराज के खिलाफ FIR दर्ज करने के लिए शिकायत की। कांग्रेस नेता एनपी प्रजापति, विजय लक्ष्मी साधौ, जीतू पटवारी, पीसी शर्मा समेत कई कांग्रेस नेताओं ने कोविड-19 से हुई मौतों के झूठे आंकड़े बताने पर मुख्यमंत्री पर FIR दर्ज करने का आवेदन दिया।

ये भी पढ़ें:  अख़बारों से लुप्त होता साहित्य

कांग्रेस नेताओं ने पुलिस को श्मशान घाट के आंकड़ों और अखबारों की कटिंग सबूत के तौर पर सौंपी। कांग्रेस ने सरकार पर कोरोना वायरस के इलाज के लिए इंतजाम नहीं करने का आरोप लगाया।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें