एक ही वैक्सीन की तीन कीमतें क्यों, सोनिया ने उठाये सवाल

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक ही वैक्सीन की तीन कीमतें होने को लेकर सवाल उठाये हैं। उन्होंने पीएम मोदी को लिखे पत्र में पूछा कि एक ही वैक्सीन की तीन कीमतें क्यों तय की गई हैं ?

सोनिया ने अपने पत्र में सरकार पर आरोप लगाया कि वह कोरोना महामारी के दौर में मनमानी कर रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना टीकाकरण को लेकर सरकार की नीतियों के कारण टीका निर्माता कंपनी इसके दाम को लेकर मनमानी पर उतर आई है।

इतना ही नहीं कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा कि देश में जब कोरोना की दूसरी लहर चरम पर है तो सरकार को इस तरह की मनमानी नहीं होने देनी चाहिए और 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को उनकी आर्थिक स्थिति या अन्य स्तर का आकलन किए बिना समान रूप से सभी के टीकाकरण की व्यवस्था करनी चाहिए।

सोनिया गांधी ने एक ही वैक्सीन की तीन कीमतें होने को लेकर सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि टीका निर्माता कंपनी सिरम इंस्टीट्यूट ने आज ही टीके की जो कीमत घोषित की है उसके अनुसार केंद्र सरकार को यह टीका 150 रुपए में, राज्य सरकारों को 400 रुपए में और निजी अस्पतालों को 600 रुपए में बेचा जाएगा।

ये भी पढ़ें:  अब मुख़्तार अंसारी को एक और मामले में 5 साल की सजा का एलान

उन्होंने अपने पत्र में पीएम मोदी से अपील की कि वे इस तरह की मनमानी पर रोक लगाने के लिए आगे आकर हस्तक्षेप करें जिससे देश के सभी लोगों को समान मूल्य पर कोरोने का टीका उपलब्ध हो सके।

गौरतलब है कि सोनिया गांधी से पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी सरकार पर कोरोना की आड़ में मुनाफा कमाने का आरोप लगा चुकी हैं। ममता बनर्जी ने आज एक चुनावी सभा में एलान किया कि 5 मई को पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सरकार बनने के बाद राज्य की जनता को कोरोना का मुफ्त टीका दिया जाएगा।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें