पीएम मोदी की बैठक के बाद ममता का आरोप, ‘कठपुतली की तरह बैठे रहे, बोलने नहीं दिया गया’

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आज देश के 10 राज्यों के 54 जिलाधिकारियों के साथ की गई बैठक में शामिल हुई पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बैठक को लेकर निराशा जताई है।

ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि बैठक में सब कठपुतली की तरह बैठे रहे, किसी को बोलने का और अपनी बात रखने का मौका नहीं दिया गया। उन्होंने कहा कि बैठक में सभी मुख्यमंत्रियों को कठपुतली की तरह बनाकर बैठाया गया। सिर्फ कुछ भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों को ही बोलने दिया गया।

वहीँ बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछली महामारियां हों या कोरोना वायरस से पैदा हुई ताजा स्थिति, हर महामारी ने हमें एक बात सिखाई है। महामारी से लड़ाई के हमारे तौर-तरीकों में निरंतर बदलाव जरूरी है।

उन्होंने कहा कि ये वायरस अपना स्वरूप बदलने में माहिर है। या कहें कि ये बहुरूपिया तो है ही, धूर्त भी है। इसलिए इससे निपटने के हमारे तरीके और हमारी रणनीति भी विशेष होनी चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि टीकाकरण की रणनीति को लेकर केंद्र सरकार, राज्यों से मिले सभी सुझावों को आगे बढ़ा रही है और इसे ध्यान में रखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय राज्यों को अगले 15 दिनों की, टीकों की खुराक की सूचना उपलब्ध करा रहा है।

ये भी पढ़ें:  Mumbai : चंडीगढ़ के बाद IIT Bombay में MMS कांड

उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में टीकों की आपूर्ति आसान होगी और इससे टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया को भी आसान बनाने में मदद मिलेगी। पीएम मोदी ने कहा कि कोविड महामारी की दूसरी लहर के बीच वायरस के स्वरूपों की वजह से अब युवाओं और बच्चों के लिए ज्यादा चिंता जताई जा रही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें