उन्नाव: पुलिस हिरासत में सब्ज़ी बिक्रेता की मौत, तीन निलंबित

उन्नाव। लॉकडाउन के दौरान सब्ज़ी बेच रहे एक युवक की पुलिस हिरासत में मौत के मामले में पुलिस के दो सिपाहियों और एक होमगार्ड को निलंबित किया गया है।

सब्ज़ी विक्रेता के परिवार का आरोप है कि पुलिस ने लॉकडाउन में सब्ज़ी बेचने के​ लिए विक्रेता की पिटाई की जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन किया और पुलिस पर थर्ड डिग्री देकर हत्या का आरोप लगाया।

उन्नाव के पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, लॉकडाउन का अनुपालन कराने के लिए एक व्यक्ति को थाने लाया गया, थाने में उसकी तबियत खराब हुई। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई। वादी की शिकायत पर FIR दर्ज कर ली गई है। दो आरक्षी और एक होमगार्ड को नामजद किया गया है, तीनों को निलंबित कर दिया गया है।

वहीँ मृतक फैसल के परिजनों का आरोप है कि लॉकडाउन के दौरान सब्ज़ी और फलो की दुकान खोलने की अनुमति है। इसके बावजूद फैसल जब सब्ज़ी बेचने निकला तो पुलिस कर्मियों ने उसे सड़क पर रोक कर पीटा और उसे उठाकर थाने ले गई।

ये भी पढ़ें:  मौलाना इलियासी ने संघ प्रमुख की तारीफ़ में पढ़े कसीदे, राष्ट्रपिता कहकर किया संबोधित

मृतक के परिजनों के मुताबिक, थाने में भी फैसल की पिटाई की गई और उसे कुख्यात अपराधियों की तरह थर्ड डिग्री दी गई। जिससे उसने दम तोड़ दिया। फैसल के परिजनों ने बताया कि फैसल के शरीर पर चोटों के निशान बताते हैं कि उसके साथ पुलिस ने ज़ुल्म किया और उसे पीट पीट कर मार डाला।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें