समाजवादी पार्टी के बागी नितिन अग्रवाल बीजेपी के समर्थन से बने विधानसभा उपाध्यक्ष

लखनऊ ब्यूरो। समाजवादी पार्टी के बागी विधायक नितिन अग्रवाल को उत्तर प्रदेश विधानसभा का उपाध्यक्ष चुन लिया गया है। नितिन अग्रवाल को बीजेपी ने डिप्टी स्पीकर पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया था।

हालांकि विधानसभा में मतदान के दौरान समाजवादी पार्टी के विधायकों ने नितिन अग्रवाल के खिलाफ मतदान किया। इसके बावजूद बीजेपी के समर्थन से नितिन अग्रवाल ने सपा के उम्मीदवार नरेंद्र वर्मा को 244 वोटों से हराकर जीत हासिल की। विधानसभा के डिप्टी स्पीकर के चुनाव के लिए कुल 368 वोट पड़े, जिनमें से चार को अवैध घोषित कर दिया गया।

कांग्रेस ने किया बहिष्कार लेकिन आदिति सिंह ने डाला वोट:

विधानसभा के डिप्टी स्पीकर के चुनाव में बीएपी और कांग्रेस ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया। दोनों पार्टियों ने विधानसभा उपाध्यक्ष के चुनाव के बहिष्कार का एलान किया था। हालांकि कांग्रेस के एलान के खिलाफ रायबरेली से कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह ने वोट डाला।

कौन हैं नितिन अग्रवाल:

आज उत्तर प्रदेश विधानसभा के डिप्टी स्पीकर चुने गए नितिन अग्रवाल सात बार के विधायक नरेश अग्रवाल के बेटे हैं। नितिन अग्रवाल ने साल 2017 में सपा की टिकट पर चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी। हाल ही में नितिन अग्रवाल और समाजवादी पार्टी नेतृत्व के बीच पैदा हुई तकरार के बाद नितिन अग्रवाल समाजवादी पार्टी से बगावत करते हुए बीजेपी के करीब पहुंच गए।

ये भी पढ़ें:  बिहार : ब्लड प्रेसर की नकली दवा के कारोबार का खुलासा बिहार से उड़ीसा तक, आप भी रहें सतर्क

साल 2007 में नरेश अग्रवाल के सपा से इस्तीफा देने के बाद 2008 के उपचुनाव में नितिन अग्रवाल बसपा की टिकट पर हरदोई सीट से पहली बार मैदान में उतारे और जीत हासिल की। हालांकि नितिन अग्रवाल ऐसे समय विधान सभा के डिप्टी स्पीकर बने हैं जब प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कुछ ही महीनो का समय बाकी है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें