सादिक खान दूसरी बार चुने गए लंदन के मेयर

नई दिल्ली (इंटरनेशनल डेस्क)। लंदन में लेबर पार्टी के सादिक खान को एक बार फिर  मेयर चुना गया है। 2016 में किसी पश्चिमी मुल्क की राजधानी के पहले मुस्लिम प्रमुख के तौर पर नियुक्त होने वाले सादिक खान को 55.2 फीसदी वोट हासिल हुए। वहीँ उनके प्रतिद्वंद्वी और कंजरवेटिव पार्टी के शॉन बैली को 44.8 फीसदी वोट हासिल हुए।

पाकिस्तानी मूल के सादिक खान ने जीत के बाद कहा कि मुझे बेहद खुशी है कि लंदनवासियों ने धरती पर सबसे महान शहर का नेतृत्व करने के लिए मुझ पर फिर से भरोसा जताया है। उन्होंने कहा कि वे अपनी ज़िम्मेदारियों को पूरा करने के लिए 24 घंटे लंदन के लोगों के लिए उपलब्ध हैं।

वहीँ अपने चुनाव अभियान के दौरान सादिक खान ने लंदन में रोजगार के अवसर पैदा करने पर फोकस करने का अहम वादा जनता से किया है। 50 वर्षीय खान ने कहा कि उनका दूसरा कार्यकाल विभिन्न समुदायों के दूरियों को मिटाने और सिटी हॉल और सरकार के बीच समन्वय बनाने पर केंद्रित होगा।

उन्होंने कहा, वह देश की अर्थव्यवस्था को फिर से खड़ा करने में लंदन के योगदान को सुनिश्चित करना चाहते हैं तथा लोगों के लिए बेहतर भविष्य बनाना चाहते हैं।

ये भी पढ़ें:  तीन अक्टूबर : पूर्वी और पश्चिमी जर्मनी एक हुए

सादिक खान को ब्रेग्जिट और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के आलोचक रहे हैं। इतना ही नहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा कुछ मुस्लिम देशो के लोगों के अमेरिका आने पर प्रतिबंध लगाए जाने का सादिक खान ने कड़ा विरोध किया था।

सादिक खान का परिवार पाकिस्तान से 1970 में लंदन आया था। उनका जन्म लंदन में ही हुआ। सादिक खान के सात भाई और एक बहन है। उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ लंदन से कानून में डिग्री हासिल की हुई है। उन्होंने ने वर्ष 1994 में क्रिश्चियन फिशर लीगल फर्म में ट्रैनी वकील के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें