Rampur : पुलिस को नहीं पता कहां हैं आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला, तलाश जारी

आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम ने सुरक्षा में तैनात सभी गनर लौटा दिए हैं. इसके बाद से ही आजम और अब्दुल्ला की लोकेशन को लेकर पुलिस के पास कोई जानकारी नहीं है. इधर जौहर यूनिवर्सिटी में चोरी का सामान मिलने से दोनों नेताओं की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं

Lucknow : समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान (Azam Khan) की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ती नजर आ रही हैं. इस बीच सोमवार को उन्होंने और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम ने सुरक्षा में तैनात सभी गनर लौटा दिए हैं. आजम खान को वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली है. सपा नेताओं की सुरक्षा में तैनात गनर जब आमद दर्ज कराने रामपुर थान पहुंचे तो इस मामले का पता चला. इसके बाद से ही आजम और अब्दुल्ला की पुलिस को तलाश है, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला है.

आजम खान ने दिल्ली से वापस लौटाए गनर

इस संबंध में अपर पुलिस अधीक्षक संसार सिंह से प्राप्त जानकारी के अनुसार, आजम खान की सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों ने पुलिस लाइन में बताया कि, 23 तारीख को वे गंगा राम हॉस्पिटल में सपा नेता की सुरक्षा में तैनात थे. उन्हें कहा कि, आप लोग वापस रामपुर चले जाओ. हमें आपकी जरूरत नहीं है. जिसके बाद तीनों रामपुर आ गए. रामपुर में गनर्स ने तीन दिन तक सपा नेता के आने का इंतजार किया, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला, जिसके बाद पुलिसकर्मियों ने थाने में अपनी आमद करा दी.

ये भी पढ़ें:  संयुक्त किसान मोर्चा का आरोप: मोदी सरकार ने किया धोखा, 26 नवंबर से किसान करेंगे राजभवन मार्च

आजम खान और अब्दुल्ला आजम की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

फिलहाल, आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम की लोकेशन को लेकर पुलिस के पास कोई जानकारी नहीं है. अपर पुलिस अधीक्षक के अनुसार, आजम के बेटे अब्दुल्ला का गनर भी उन्हें 22 तारीख से खोज रहा है, लेकिन उनका और उनके ड्राइवर का मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा है. घर जाने पर भी विधायक के बारे में कोई जानकारी प्राप्त नहीं हो सकी.

दोनों नेताओं की नहीं मिली लोकेशन

पुलिस ने बताया कि फिलहाल, दोनों पिता-पुत्र को लेकर कोई जानकारी नहीं है. हालांकि, उन्होंने कहा कि, गनर के मुताबिक, 23 सितंबर को दोनों नेता दिल्ली में थे. इधर आजम खान और अब्दुल्ला पर किताब चोरी और नगर निगम की मशीन मिलने के बाद से मुश्किलें बढ़ गई हैं

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें