सीतापुर से लखीमपुर खीरी के लिए निकले राहुल गांधी, प्रियंका सहित अन्य नेता भी साथ में

लखनऊ। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नेतृत्व में कांग्रेस के पांच नेता सीतापुर से लखीमपुर खीरी के लिए निकल गए हैं। इससे पहले आज दिल्ली से लखनऊ पहुंचे राहुल गांधी को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति नहीं दी गई और उन्हें एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया।

राहुल ने आरोप लगाया कि उन्हें जबरदस्ती सरकारी गाड़ी में बिठाया जा रहा है जबकि वे अपनी गाड़ी से लखीमपुर जाना चाहते हैं, एयरपोर्ट पर राहुल गांधी के साथ छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल और पंजाब के सीएम चन्नी भी मौजूद थे और राहुल गांधी और काफी देर तक पुलिस और राहुल गांधी के बीच नौकझौंक चलती रही।

लखनऊ में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि हमें अपनी गाड़ी में लखीमपुर खीरी जाना है लेकिन ये (पुलिस) चाहते हैं कि हम इनके साथ इनकी गाड़ी में जाए। इसका मतलब है कि ये कुछ न कुछ बदमाशी कर रहे हैं. इसलिए हम लोग यहां बैठे हुए हैं। हमें अपनी गाड़ी में लखीमपुर खीरी जाना है। ये चाहते हैं कि हम इनके साथ इनकी गाड़ी में जाएं. देश का नागरिक हूं आप मुझे क्यों नहीं जाने दे रहे हैं? पहले इन्होंने कहा कि आप अपनी गाड़ी में जा सकते हैं, अब बोल रहे हैं कि आप पुलिस की गाड़ी में ही जा सकते हैं।

ये भी पढ़ें:  राहुल के बयान से गहलोत की दावेदारी में फंसा पेच, अब दिग्विजय-कमलनाथ पर टिकी हैं नज़रें

बाद में राहुल गांधी सहित कांग्रेस नेताओं को सीतापुर होते हुए लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति दे दी गई। राहुल गांधी अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ सीतापुर पहुंचे। उसके बाद वे पीएसी गेस्ट हाउस में प्रियंका गांधी से मिले और उन्हें लेकर लखीमपुर खीरी के लिए निकल पड़े।

राहुल गांधी के साथ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के अलावा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी, दीपेंद्र हुडा भी लखीमपुर खीरी जा रहे हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें