पायलट के खिलाफ लामबंद हुए गहलोत समर्थक विधायक, अब खुलकर बोल रहे ये बात

जयपुर। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान मिलने की दशा में नया मुख्यमंत्री कौन होगा ? इस पर अभी भी विवाद बरक़रार है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष की बड़ी कुर्सी तो पाना चाहते हैं लेकिन राजस्थान में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बनने देना चाहते। कल की घटना के बाद अब गहलोत समर्थक विधायक पायलट के खिलाफ खुलकर मैदान में आ गए हैं।

जस्थान सरकार में मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि जस्थान के MLA गद्दारों को पुरस्कृत करना बर्दाश्त नहीं करेंगे। ऐसे व्यक्ति को CM बनाने के लिए एक महासचिव खुद प्रचार कर रहे हैं, ऐसे में ज़ाहिर तौर पर MLA को नाराज़ होना ही था। मेरे पास नाराज़ MLA के फोन आए।

उन्होंने कहा कि हम 34 दिन (2020) तक होटलों में इकट्ठा हुए थे आप उनमें से किसी को भी मुख्यमंत्री बनाओ। सोनिया जी जिसे कहेंगी उसे मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

वहीँ एक अन्य मंत्री महेश जोशी ने एएनआई से बात करते हुए कहा कि हमारी मांग है कि जिन्होंने कांग्रेस को कमज़ोर करने की और सरकार गिराने की कोशिश की उनमें से किसी को भी CM के पद लिए न चुना जाए।

उन्होंने कहा कि दो दिन पहले विधायक दल की बैठक हुई थी अचानक पिर से बैठक आ गई जिस पर लोगों के मन में सवाल आया कि फिर से बैठक क्यों बुलाई गई है… 7 बजे बैठक थी और हमने लोगों को धारीवाल जी के घर पर 5 बजे विचार-विमर्श के लिए बुलाया।

ये भी पढ़ें:  कांग्रेस अध्यक्ष खरगे का दावा: गुजरात में पूरे बहुमत के साथ आ रही कांग्रेस की सरकार

कांग्रेस विधायक ने कहा कि वहां (बैठक में) पर सारी बातें साफ तरीके से हुई और सभी विधायकों ने हमारी बात का समर्थन किया। मैं नहीं समझता कि किसी भी विधायक ने बिना पढ़े पत्र पर हस्ताक्षर किया और अगर किसी ने बिना पढ़े हस्ताक्षर किया है तो वे अध्यक्ष से जाकर मिल सकते हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें