जम्मू कश्मीर पर आज होगी पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से जुड़े मामलो को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज सर्वदलीय बैठक आयोजित की गई है। इस बैठक में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी नेता महबूबा मुफ़्ती के अलावा कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद प्रमुख रूप से भाग लेंगे।

पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक में भाग लेने के लिए महबूबा मुफ़्ती और फारूक अब्दुल्ला सहित तमाम नेता दिल्ली पहुंच चुके हैं। माना जा रहा है कि आज होने वाली सर्वदलीय बैठक में जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराये जाने जैसे प्रमुख मुद्दों पर बातचीत हो सकती है।

वहीँ सूत्रों की माने तो गुपकर गठबंधन से जुड़े पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती कश्मीर में धारा 370 की पुनः बहाली की मांग रख सकते हैं। जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने एक दिन पहले ही ऐसे संकेत दिए हैं।

हिन्दुस्तान टाइम्स को दिए गए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा है कि यह देश भाजपा के घोषणापत्र से नहीं बल्कि संविधान से चलेगा। मैं स्पष्ट बता रही हूं कि यदि अनुच्छेद 370 और 35ए बहाल नहीं किए जाते है तो मैं चुनाव नहीं लडूंगी। यह तय है।

ये भी पढ़ें:  पवन बंसल और थरूर ने दाखिल किये नामांकन, गहलोत पर सस्पेंस बरकरार

महबूबा मुफ्ती ने बातचीत में कहा कि नरेंद्र मोदी सिर्फ एक व्यक्ति नहीं बल्कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं और मैं अपना भरोसा प्रधानमंत्री पर पर दिखा रही हूं। अगस्त 2019 में जो भी हुआ वह अस्वीकार्य है। राज्य को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को असंवैधानक तौर पर हटाया गया। यह एक पुल था जिसके रास्ते में हमारी भावनाएं बाकी भारत के साथ जुड़ी थी। हम इससे कम पर कुछ नहीं मानेंगे। हम अनुच्छेद 370 की बहाली चाहते हैं।

महबूबा ने कहा कि यदि आप अपना मुंह खोलेंगे तो आप पर नागरिक सुरक्षा कानून के तहर केस दर्ज किया जाएगा। अगर सरकार तालिबान से बात करने दोहा जा सकती है तो वह अपने लोगों से बाद क्यों नहीं कर सकती? कश्मीर में एक आम आदमी के साथ भी आतंकवादियों जैसा व्यवहार किया जाता है। अगस्त 2019 में जो हुआ उस फैसले को वापस लेना चाहिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें