इसी रविवार को हो सकती है नीतीश-लालू की सोनिया गांधी से मुलाक़ात

नई दिल्ली। 2024 के लोकसभा चुनाव में विपक्ष की एकता के लिए इस बार बिहार से प्रयास शुरू हुए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव दोनों ही 2024 के लोकसभा चुनाव में विपक्षी दलों की एकता को लेकर हर संभव प्रयास करने का एलान कर चुके हैं।

अभी दो दिन पहले ही बिहार की राष्ट्रीय जनता दल की इकाई को संबोधित करते हुए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने एलान किया था कि वे जल्द ही दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे। लालू यादव ने कहा था कि वे अपने साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर दिल्ली जाएंगे।

हालांकि लालू यादव ने यह भी कहा था कि विपक्षी दलों की एकता के लिए वे कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा समाप्त होने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से मिलेंगे।

वहीँ सूत्रों की माने तो 25 सितंबर को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद सुप्रीमो दिल्ली के दौरे पर आ सकते हैं और इस दौरान वे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:  सोनिया से मिले अशोक गहलोत, इस मुलाकात पर लगाए जा रहे कयास

दरअसल, 25 सितंबर (रविवार) को हरियाणा के फतेहाबाद में पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल की जयंती का आयोजन किया गया है। इस अवसर एक रैली का आयोजन भी किया गया है। इस रैली को विपक्षी दलों की एकता के तौर पर देखा जा रहा है। इस रैली में शामिल होने के लिए कांग्रेस को भी निमंत्रण भेजा गया है।

सूत्रों के मुताबिक, चौधरी देवीलाल की जयंती कार्यक्रम में नीतीश कुमार और लालू यादव का आना तय है और इस दौरान उनके कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात करने की भी पूरी संभावना हैं। सूत्रों की माने तो राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के साथ तेजस्वी यादव के भी दिल्ली पहुँचने की संभावना है।

तेजस्वी यादव दिल्ली में आयोजित होने जा रहे राष्ट्रीय जनता दल के सम्मेलन की तैयारियों का जायजा लेने दिल्ली आ रहे हैं। बता दें कि राष्ट्रीय जनता दल ने पार्टी का राष्ट्रीय सम्मेलन दिल्ली में 9 और 10 अक्टूबर को आयोजित करने का एलान किया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें