देश के 10 राज्यों में स्थिति चिंताजनक, बंगाल में BJP की रैलियों में उड़ रही गाइडलाइन की धज्जियां

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमित मामलो की तादाद प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। इसके बावजूद कई राज्यों में कोरोना गाइडलाइन की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।

पश्चिम बंगाल में चुनावी रैलियों और रोड शो में कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है। इतना ही नहीं चुनावी मंच से भाषण देने वाले नेता भी अपने भाषणों में लोगों से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील नहीं कर रहे हैं।

चुनावी रैलियों और रोड शो में खुद बीजेपी नेताओं के चेहरे से मास्क नदारद हैं। गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा स्वयं भी अपने रोड शो और रैलियों में बिना मास्क दिखाई दे रहे हैं।

गौरतलब है कि शुक्रवार को चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक दलों को पत्र लिखकर चुनाव के दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के लिए कहा था। चुनाव आयोग ने अपने पत्र में यह भी कहा था कि यदि राजनीतिक दलों ने कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं किया तो आयोग रैलियों और रोड शो पर पाबंदी लगाने में देर नहीं करेगा।

ये भी पढ़ें:  सोनिया से मुलाकात के बाद लालू-नीतीश गदगद, 2024 को लेकर कही ये बात

कुंभ मेले में कोरोना गाइडलाइन का जमकर उल्लंघन:

दूसरी तरफ उत्तराखंड के हरिद्वार में कल संपन्न हुए कुंभ मेले के दौरान लाखो लोग जुटे लेकिन सरकार ने कोरोना को देखते हुए न तो भीड़ कम करने के लिए कोई कदम उठाया और न ही लोगों से मास्क की अनिवार्यता और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए कोई प्रयास किये।

24 घंटे में आये कोरोना संक्रमण के 1,61,736 नए मामले:

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि पिछले 24 घंटे के अंदर ही देश में कोरोना संक्रमण के 1,61,736 नए मामले सामने आये हैं और 879 लोगों की मौत हुई है। अब देश में कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 1,36,89,453 तथा कुल मौतों की संख्या 1,71,058 हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या12,64,698 है।

आंकड़ों के मुताबिक, देश के दस राज्यों में स्थिति भयाभय है। देश के 10 राज्यों से ही कोरोना संक्रमण के 80.80 फीसदी मामले सामने आ रहे हैं। इन 10 राज्यों में महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दिल्ली जैसे बड़े राज्य शामिल है। इसके अलावा छत्तीसगढ़, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, राजस्थान और केरल भी शामिल है।

वहीँ देश के 5 राज्यों से 68.85 फीसदी मामले सामने आ रहे हैं। इन 5 राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और केरल शामिल है। अकेले महाराष्ट्र से 44.78 फीसदी मामले सामने आ रहे हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें