अब शिवराज के इस मंत्री ने कराई किरकिरी, महंगाई के लिए नेहरू को बताया ज़िम्मेदार

भोपाल ब्यूरो। अपनी असफलताओं को छिपाने के लिए ठीकरा दूसरो पर फोड़ने का सिलसिला जारी रखते हुए मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री विश्वास सारंग ने देश में महंगाई और लुढ़कती अर्थव्यवस्था के लिए देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को ज़िम्मेदार ठहराया है।

शिवराज सरकार में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने भोपाल में देश में बढ़ती महंगाई और कीमतों पर कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन करने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि 15 अगस्त 1947 को लाल किले से जवाहरलाल नेहरू के दिए गए भाषण की गलतियों से देश की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई।

उन्होंने कहा कि देश की आजादी के बाद अर्थव्यवस्था को पंगु बना कर महंगाई बढ़ाने का श्रेय अगर किसी को जाता है तो वह नेहरू परिवार है। महंगाई एक-दो दिन में नहीं बढ़ती। अर्थव्यवस्था की नींव एक-दो दिन में नहीं रखी जाती है।

सारंग ने कहा कि 15 अगस्त 1947 को लाल किले की प्राचीर से (प्रथम प्रधानमंत्री) जवाहरलाल नेहरू द्वारा दिए गए भाषण की गलतियों के कारण देश की अर्थव्यवस्था बिगड़ गई है। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर पीएम नरेंद्र मोदी ने पिछले सात सालों में देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया है।

ये भी पढ़ें:  बिहार : ब्लड प्रेसर की नकली दवा के कारोबार का खुलासा बिहार से उड़ीसा तक, आप भी रहें सतर्क

वहीँ शिवराज सरकार में मंत्री विश्वास सारंग के बयान पर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए पूछा कि क्या कोरोना से हुई मौतों के लिए भी पंडित जवाहर लाल नेहरू ज़िम्मेदार हैं ?

कांग्रेस प्रवक्ता के के मिश्रा ने कहा कि शिवराज सर्कस के योग्य मंत्री विश्वास सारंग 1947 में नेहरू के भाषण को देश की महंगाई के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, तब सारंग का जन्म भी नहीं हुआ था।

उन्होंने कहा कि विभाग के मंत्री के तौर पर क्या सारंग बता सकते हैं कि कोरोना महामारी के दौरान बिस्तरों, ऑक्सीजन और रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कमी के कारण हुई हजारों लोगों की मौत के लिए भी क्या नेहरू जिम्मेदार थे?

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें